VIDEO: मौत के बाद नहीं मिली एंबुलेंस, स्ट्रेचर पर गर्भवती महिला का शव लेकर निकलने पर मजबूर हुए परिजन

परिजनों ने यह भी आरोप लगाया कि डॉक्टरों की लापरवाही की वजह से महिला की मौत हुई है.

VIDEO: मौत के बाद नहीं मिली एंबुलेंस, स्ट्रेचर पर गर्भवती महिला का शव लेकर निकलने पर मजबूर हुए परिजन

परिवार का आरोप- गर्भवती महिला को मौत के बाद नहीं मिली एंबुलेंस

नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में गर्भवती महिला की मौत के बाद शव को ले जाने के लिए एंबुलेंस नहीं मिली. जिसकी वजह से परिवार को स्ट्रेचर ट्रॉली पर उसका शव ले जाने के लिए मजबूर होना पड़ा. आरोप है कि अस्पताल प्रशासन ने एंबुलेंस देने से मना कर दिया था. परिजनों ने यह भी आरोप लगाया कि डॉक्टरों की लापरवाही की वजह से महिला की मौत हुई है. अधिकारियों ने इस मामले में जांच के आदेश जारी कर दिए हैं. लापरवाही के लिए एक डॉक्टर और नर्स को सस्पेंड कर दिया गया है.   

पिछले 10 दिन में कथित तौर पर चिकित्साकर्मियों की लापरवाही का यह दूसरी मामला है. इससे पहले अनंतनाग जिले में एक और गर्भवती महिला की मौत हो चुकी है. इस घटना का वीडियो भी वायरल हो रहा है. जिसमें मृत महिला को उसके परिवारवाले स्ट्रेचर ट्रॉली पर लेकर जा रहे हैं. इस घटना के बाद से इलाके में तनाव है. प्रदर्शनकारियों ने न्याय की मांग और डॉक्टरों की खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करते हुए प्रदर्शन किया. 

महिला के परिवार वालों ने बताया कि उसे डॉक्टरों ने सीर हमदान से अनंतनाग में मैटरनिटी अस्पताल में भर्ती कराया था. दोनों ही अस्पताल में महिला के ऊपर ध्यान नहीं दिया गया. अधिकारियों ने कहा कि अनंतनाग अस्पताल में पहुंचते ही डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अनंतनाग के डिप्टी कमिश्नर बशीर अहमद डार ने दावा किया कि शव की कोविड-19 टेस्टिंग से बचने के लिए परिजन खुद ही ट्राली में शव लेकर अपने घर की तरफ निकल पड़े थे. उन्होंने ट्वीट में कहा, "शुरुआती जानकारी में यह बात सामने आ रही है कि महिला के रिश्तेदारों को इस बात का डर था कि यदि कोरोना की जांच के लिए महिला के नमूने लिए गए तो उन्हें महिला को दफन करने के लिए इंतजार करना पड़ेगा. इसी वजह से वे खुद महिला के शव को लेकर अस्पताल से निकल गए.

वीडियो: ओडिशा : अपनी बेटी का शव कंधे पर लादे अस्पताल से निकला शख्स