गुजरात: बुलेट ट्रेन प्रोजेक्‍ट के खिलाफ प्रदर्शन की कर चुके हैं अगुवाई, वही जयेश पटेल अब BJP में शामिल

सूरत के निवासी जयेश पटेल, दक्षिण गुजरात में सहकारी क्षेत्र में एक जाना पहचाना नाम हैं. वे दक्षिण गुजरात खेड़त सामज प्रमुख भी हैं. गौरतलब है कि बुलेट ट्रेन प्रोजक्‍टर के विरोध में सूरत, नवसारी और वलसाड जिलों में पटेल के नेतृत्‍व में किसानों ने कई विरोध प्रदर्शन किए थे.

गुजरात: बुलेट ट्रेन प्रोजेक्‍ट के खिलाफ प्रदर्शन की कर चुके हैं अगुवाई, वही जयेश पटेल अब BJP में शामिल

अहमदाबाद :

गुजरात (Gujarat) के किसान नेता जयेश पटेल (Jayesh Patel) सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल हो गए. जयेश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्‍वाकांक्षी बुलेट ट्रेन प्रोजेक्‍ट (Bullet Train project) के विरोध प्रदर्शन (Protests) की अगुवाई भी कर चुके हैं. जयेश ने कहा कि प्रभावित किसान (प्रोजेक्‍ट से) कभी भी विकास के खिलाफ नहीं थे. उन्होंने महसूस किया है कि मुद्दों को हल करने के लिए सरकार के साथ बातचीत एक बेहतर तरीका है. नवनियुक्त राज्य बीजेपी प्रमुख सीआर पाटिल और कैबिनेट मंत्री गणपत वसावा ने गांधीनगर में पार्टी मुख्यालय में पटेल का स्वागत किया.

राज्यसभा चुनाव 2020: वोट डालने के लिए एंबुलेंस में पोलिंग बूथ पहुंचे गुजरात के ये विधायक

सूरत के निवासी जयेश पटेल, दक्षिण गुजरात में सहकारी क्षेत्र में एक जाना पहचाना नाम हैं. वे दक्षिण गुजरात खेड़त सामज प्रमुख भी हैं. गौरतलब है कि बुलेट ट्रेन प्रोजक्‍टर के विरोध में सूरत, नवसारी और वलसाड जिलों में पटेल के नेतृत्‍व में किसानों ने कई विरोध प्रदर्शन किए थे. ये किसान प्रोजेक्‍ट के लिए अधिग्रहीत की जा रही भूमि (Land Acquisition)के बेहतर मुआवजे की मांग कर रहे थे. प्रोजेक्‍ट के तहत मुंबई को अहमदाबाद से जोड़ा जाना है. जमीन अधिग्रहण के खिलाफ किसानों ने गुजरात हाईकोर्ट में भी याचिका दायर की थीं, हालांकि इन याचिकाओं को अदालत ने पिछले साल खारिज कर दिया था.

Newsbeep

जयेश पटेल ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, "मैंने महसूस किया कि आंदोलन के बजाय, सरकार के साथ बातचीत करके किसानों के मुद्दों को बहुत बेहतर तरीके से हल किया जा सकता है. मुझे विश्वास है कि बीजेपी में शामिल होने के मेरे कदम से अंततः किसानों को फायदा होगा." उन्होंने कहा कि किसान मुख्य रूप से अपनी भूमि के लिए उचित मुआवजे की मांग कर रहे थे और उनका विरोध विकास के प्रति कतई नहीं था.उन्होंने दावा किया कि सूरत के ओलपाड तालुका में किसानों को मुख्यमंत्री विजय रूपानी और राजस्व मंत्री कौशिक पटेल के साथ बातचीत के बाद अधिक मुआवजा मिला है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा, "अब हम सरकार के साथ बातचीत के जरिए नवसारी और वलसाड जिले में किसानों के मुद्दों को हल करने की कोशिश करेंगे.किसान सहयोग के लिए तैयार हैं." राज्‍य बीजेपी प्रमुख सीआर पाटिल ने कहा कि दक्षिण गुजरात के किसान चाहते थे कि जयेश पटेल पार्टी में शामिल हों, ताकि वे लोगों की बेहतर तरीके से सेवा कर सकें."



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)