NDTV Khabar

BJP की सहयोगी बोली- भगवान राम सबसे सम्मानित देवता, तो फिर मंदिर क्यों नहीं बनना चाहिए?

जैसे-जैसे 2019 लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं राजनीतिक पार्टियों को फिर से अयोध्या में राम मंदिर का मामला याद आने लगा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
BJP की सहयोगी बोली- भगवान राम सबसे सम्मानित देवता, तो फिर मंदिर क्यों नहीं बनना चाहिए?

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

जैसे-जैसे 2019 लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं राजनीतिक पार्टियों को फिर से अयोध्या में राम मंदिर का मामला याद आने लगा है. भारतीय जनता पार्टी के बाद अब बिहार में उसकी सहयोगी पार्टी जनता दल यूनाइटेड का भी कहना है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण जल्द होना चाहिए और जदयू ने इस मुद्दे पर लोगों से सहमति की अपील की है. जनता दल यूनाइटेड के महासचिव पवन वर्मा ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण राष्ट्रहित में है और विरोध कर रहे लोगों के भी हित में है. बता दें कि इससे पहले यूपी एक विधायक बोल चुके हैं कि अयोध्या में राम मंदिर बनकर रहेगा, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट उनका है. 

यूपी से भाजपा विधायक ने कहा: अयोध्या में राम मंदिर बनकर रहेगा, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट हमारा है


JDU के महासचिव पवन वर्मा ने कहा है, "भगवान राम विश्व के सबसे पुराने धर्मों में से एक के सबसे सम्मानित देवता हैं... तो मंदिर क्यों नहीं बनना चाहिए...? यह देश को फिर से उनसे जुड़े व्यवहार और शिष्टाचार के उच्चतम मूल्यों के महत्व को याद दिलाएगा. ''
 

उन्होंने आगे कहा कि ''मैं मंदिर का विरोध कर रहे लोगों से आग्रह करना चाहता हूं कि वे इसके लिए सहमत हो जाएं... यह उनके भी हित में होगा, राष्ट्रीय हित में भी, और लाखों-करोड़ों हिन्दुओं के भी. मामले को तुरंत सुलझा लिया जाना चाहिए और आगे से ऐसे विवादित मामलों पर पूर्ण विराम लगाना होगा.  

बता दें कि इससे पहले बुधवार को संघ प्रमुख मोहन भागवत ने भी कहा था कि अयोध्या में राम मन्दिर का शीघ्र निर्माण होना चाहिए और विश्वास व्यक्त किया कि इससे हिंदुओं एवं मुस्लिमों के बीच तनाव खत्म हो जाएगा. भगवान राम को “इमाम-ए-हिंद” बताते हुए भागवत ने कहा कि वह देश के कुछ लोगों के लिए भगवान नहीं हो सकते लेकिन वह समाज के सभी वर्ग के लोगों के लिए भारतीय मूल्यों के एक आदर्श हैं.

अयोध्या में राम मंदिर पर बोले योगी आदित्यनाथ: जो कार्य होना है वह होकर ही रहेगा, कोई टाल नहीं सकता

उन्होंने कहा, “एक संघ कार्यकर्ता, संघ प्रमुख और राम जन्मभूमि आंदोलन के एक हिस्से के तौर पर मैं चाहता हूं कि भगवान राम की जन्मभूमि (अयोध्या) में जल्द से जल्द भव्य राम मंदिर बनाया जाए.” संघ के तीन दिवसीय कार्यक्रम के अंतिम दिन उन्होंने कहा, ‘‘अब तक यह हो जाना चाहिए था. भव्य राम मंदिर का निर्माण हिंदू-मुस्लिम के बीच तनाव की एक बड़ी वजह को खत्म करने में मदद करेगा और अगर मंदिर शांतिपूर्ण तरीके से बनता है तो मुस्लिमों की तरफ अंगुलियां उठनी बंद हो जाएंगी.”    

टिप्पणियां

उन्होंने कहा कि यह देश की संस्कृति और “एकजुटता को मजबूत” करने का मामला है, यह देश के करोड़ों लोगों के विश्वास का मुद्दा है। उन्होंने इस मुद्दे पर बातचीत का भी समर्थन किया लेकिन कहा कि अंतिम फैसला राम मंदिर समिति के पास होगा जो मंदिर के निर्माण के लिए आंदोलन चला रही है. 

VIDEO: अयोध्या में राम मंदिर बनकर रहेगा, क्योंकि सुप्रीम कोर्ट हमारा है



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement