NDTV Khabar

लालू यादव के फैसले पर JDU बोली- एक अध्याय का अंत, बिहार की राजनीति में यह ऐतिहासिक फैसला

लालू यादव के सजा के ऐलान के बाद जनता दल यूनाइटेड की त्वरित प्रतिक्रिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लालू यादव के फैसले पर JDU बोली- एक अध्याय का अंत, बिहार की राजनीति में यह ऐतिहासिक फैसला

केसी त्यागी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. लालू यादव के फैसले के बाद केसी त्यागी की प्रतिक्रिया.
  2. केसी त्यागी ने कहा कि यह एक अध्याय का अंत है.
  3. जदयू ने कोर्ट के इस फैसले का स्वागत किया.
रांची : लालू यादव को चारा घोटाला मामले में राचीं सीबीआई कोर्ट से साढ़े तीन साल जेल की सजा और पांच लाख जुर्माना के ऐलान के बाद जदयू के दिग्गज नेता केसी त्यागी ने कहा  कि हम इस फैसले का स्वागत करते हैं. यह बिहार की राजनीति में ऐतिहासिक फैसला साबित होगा. यह एक अध्याय का अंत है. 

चारा घोटाले से जुड़े देवघर कोषागार से 89 लाख, 27 हजार रुपये की अवैध निकासी के मामले में रांची की सीबीआई कोर्ट आज बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव को साढ़े तीन साल की सजा और पांच लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है.दोषी फूल चंद, महेश प्रसाद, सुनील कुमार, बांकी जूलियस, सुधीर कुमार और राजा राम को भी साढ़े तीन साल और पांच लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई.

जब लालू ने कोर्ट में कहा- साहब जेल में बहुत ठंड लगती है, तो जज बोले- तबला बजाइये

इस फैसले के बाद लालू यादव के बड़े बेटे और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप ने कहा कि 'हमें कोर्ट पर भरोसा है. लालू जी को कोर्ट से बेल जरूर मिलेगा. सामंतवादी ताकत से हम डरने वाले नहीं है. इस फैसले के बाद भी हम मजबूती से लड़ेंगे और सामंतवादी ताकत हमें तोड़ नहीं सकती है. हम पूरी ताकत से लडेंगे. झुकेंगे नहीं.'

इस मामले में शुक्रवार को लालू, आरके राणा, जगदीश शर्मा एवं तीन वरिष्ठ पूर्व आईएएस अधिकारियों समेत 16 लोगों की सजा के बिन्दु पर अदालत में बहस पूरी हो गयी थी. विशेष अदालत ने 23 दिसम्बर को चारा घोटाले के एक मामले में लालू समेत 16 आरोपियों को दोषी ठहराया था.

लालू यादव ने कोर्ट में कहा- सर, आप ठंडे दिमाग से सोचिएगा तो सब ठीक रहेगा...

टिप्पणियां
क्‍या है मामला 
वर्ष 1990 से 1994 के बीच देवघर कोषागार से 89 लाख, 27 हजार रुपये की फर्जीवाड़ा कर अवैध ढंग से पशु चारे के नाम पर निकासी के इस मामले में कुल 38 लोग आरोपी थे जिनके खिलाफ सीबीआई ने 27 अक्तूबर 1997 को मुकदमा दर्ज किया था और लगभग 21 साल बाद इस मामले में गत 23 दिसंबर को फैसला आया.

VIDEO: लालू यादव को साढ़े तीन साल जेल और 5 लाख रुपये जुर्माना


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement