NDTV Khabar

शरद यादव की राज्यसभा सदस्यता रद्द कराने की मांग को लेकर उपराष्ट्रपति से मिले जेडीयू नेता

उपराष्ट्रपति को शरद यादव की पार्टी विरोधी गतिविधियों का सबूत सौंपा जाएगा और उनकी सदस्यता खत्म करने की मांग की जाएगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शरद यादव की राज्यसभा सदस्यता रद्द कराने की मांग को लेकर उपराष्ट्रपति से मिले जेडीयू नेता

शरद यादव (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: जेडीयू के बागी नेता शरद यादव की राज्यसभा सदस्यता रद्द कराने की मांग को लेकर जेडीयू के नेता मंगलवार शाम उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू से मुलाकात करने पहुंचे. आरसीपी सिंह की अगुवाई में जेडीयू नेताओं ने उपराष्ट्रपति से मुलाकात की. उपराष्ट्रपति को शरद यादव की पार्टी विरोधी गतिविधियों का सबूत सौंपा गया और उनकी सदस्यता खत्म करने की मांग की गई. राज्यसभा के नियमों के शिड्यूल 10 के तहत उनकी सदस्यता रद्द करने की मांग की गई. इसमें किसी भी सदस्य के स्वेच्छा से सदस्यता छोड़ने पर सदस्यता रद्द होने का प्रावधान है.

यह भी पढ़ें : हमलोग संघर्ष करते रहेंगे, अब पूरे देश में बनेगा महागठबंधन: लालू की रैली में बोले शरद यादव

बता दें कि जयनारायण निषाद बीजेपी की ओर से राज्यसभा में चुनकर आए थे, लेकिन बाद में पाला बदल लिया था. उन्होंने लालू के साथ पटना के गांधी मैदान पर मंच साझा किया था. तब उनका डेढ़ साल का कार्यक्रम बचा था, लेकिन बीजेपी ने तत्कालीन उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी से मिलकर उनकी सदस्यता रद्द करने की अपील की थी और इसी शिड्यूल 10 का हवाला दिया गया था. उस वक्त निषाद की सदस्यता रद्द कर दी गई थी. उसी सीट से बाद में राजीव प्रताप रूडी लाए गए थे, जेडीयू नेता मौजूदा उपराष्ट्रपति के समक्ष इसका भी हवाला देंगे.

गौरतलब है कि नीतीश कुमार के महागठबंधन से नाता तोड़कर बीजेपी से हाथ मिलाने पर शरद यादव ने खुलकर अपनी नाराजगी जाहिर की थी. इसके बाद जेडीयू ने शरद यादव को राज्यसभा में पार्टी के नेता पद से हटा दिया था. बाद में शरद यादव ने पिछले दिनों आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव की महारैली में भी हिस्सा लिया था. इसके बाद जेडीयू ने कहा था कि आरजेडी की रैली में भाग लेकर शरद यादव ने खुद से पार्टी की सदस्यता का त्याग कर दिया है.

VIDEO: नीतीश ने शरद यादव को दी चुनौती, हिम्मत है तो तोड़ लीजिए JDU को
जेडीयू महासचिव केसी त्यागी ने कहा था कि शरद यादव के भाषण और हाल के दिनों की उनकी राजनीतिक गतिविधियों से साफ है कि वो पार्टी विरोधी कामों में लगे हैं. सोमवार को ही शरद यादव ने एनडीटीवी से खास बातचीत में कहा था कि वह राज्यसभा से इस्तीफा नहीं देंगे. ऐसा उन्होंने उस सवाल के जवाब में दिया, जिसमें उनसे पूछा गया था कि क्या उन पर जेडीयू के ओर से उन पर राज्यसभा से इस्तीफे का दबाव है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement