झारखंड विधानसभा चुनाव: अंतिम चरण में 16 सीटों के लिए कुल 70.87 प्रतिशत मतदान

झारखंड विधानसभा चुनाव के 5वें और अंतिम चरण में झामुमो का गढ़ माने जाने वाले संथाल क्षेत्र की 16 विधानसभा सीटों के लिए आरंभिक आंकड़ों के अनुसार कुल 70.87 प्रतिशत मतदान हुआ.

झारखंड विधानसभा चुनाव: अंतिम चरण में 16 सीटों के लिए कुल 70.87 प्रतिशत मतदान

अंतिम चरण में 236 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला EVM में कैद हुआ

रांची:

झारखंड विधानसभा चुनाव के 5वें और अंतिम चरण में झामुमो का गढ़ माने जाने वाले संथाल क्षेत्र की 16 विधानसभा सीटों के लिए आरंभिक आंकड़ों के अनुसार कुल 70.87 प्रतिशत मतदान हुआ. शुक्रवार शाम पांच बजे मतदान का समय समाप्त होने तक विधानसभा की 16 सीटों के लिए अतिम चरण में कुल 70.87 प्रतिशत मतदान हुआ है. अंतिम चरण में 236 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला 40,05,287 मतदाताओं ने शाम पांच बजे तक EVM मशीनों में बंद कर दिये. इन सीटों में से सात सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए सुरक्षित हैं और वर्ष 2014 के विधानसभा चुनावों में इन 16 सीटों में से छह झामुमो ने और 5 बीजेपी ने जीती थीं. झारखंड के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे ने बताया कि अंतिम एवं पांचवें चरण के लिए शाम पांच बजे तक प्रारंभिक आंकड़ों के अनुसार शांतिपूर्ण ढंग से 70.87 प्रतिशत मतदान रिकार्ड किया गया है. 

Poll of Exit Polls: झारखंड में बीजेपी सत्ता से हो सकती है बाहर, कांग्रेस-JMM बना सकती हैं सरकार

उन्होंने बताया कि शाम पांच बजे तक राजमहल विधानसभा सीट पर 67.23 प्रतिशत, बोरियो सीट पर 71.58, बरहेट सीट पर 70.07 प्रतिशत, लिट्टीपाड़ा सीट पर 70.01 प्रतिशत, पाकुड़ पर रिकार्ड 76.10, महेशपुर पर 74.81, शिकारीपाडा पर 72.50, नाला पर 78.01, जामताड़ा पर 74.77, दुमका पर 59.73, जामा पर 65.27, जरमुंडी पर 71.53 प्रतिशत, सारठ पर 75.97, पोडैयाहाट पर 69.61, गोड्डा पर 68.54 और महगामा सीट पर 67.23 प्रतिशत मतदान की खबर है. पांचवे और अंतिम चरण की सीटों के लिए शांतिपूर्ण ढंग से सुबह सात बजे मतदान प्रारंभ हुआ और तड़के ही बड़ी संख्या में मतदाता मतदान केन्द्रों पर मतदान के लिए पहुंच गये और पिछले चार चरणों की तुलना में अंतिम चरण में सर्वाधिक मतदान हुआ. उन्होंने बताया कि इन सभी सीटों के लिए कुल 5389 मतदान केंद्र बनाए गए थे जिनमें शहरी क्षेत्र में 269 और ग्रामीण क्षेत्र में 5120 मतदान केंद्र स्थित थे। ये सभी मतदान केंद्र 4096 मतदान केंद्र भवनों में स्थित थे। इन मतदाताओं में 20,49,921 पुरुष, 19,55,336 महिला, 30 तृतीय लिंग के और 93,779 नए मतदाता (18-19 साल के) थे. इसके अलावा 80 साल से ज्यादा आयु के 41,505 और 49,446 दिव्यांग मतदाता शामिल थे. 

झारखंड विधानसभा चुनाव : हेमंत सोरेन के विवादित बयान पर बीजेपी पहुंची चुनाव आयोग

मतदान सुबह सात बजे प्रारंभ हुआ और दोपहर तीन बजे तक नक्सलवाद पीड़ित बोरियो, बरहेट, लिट्टीपाड़ा, महेशपुर और शिकारीपाड़ा समेत पांच विधानसभा सीटों पर मतदान संपन्न हो गया। जबकि, अन्य 11 सीटों पर शाम पांच बजे तक मतदान हुआ. कुल 28 मतदान केन्द्रों के कर्मियों को हेलीकाप्टरों से उनके तैनाती के मतदान केन्द्रों तक पहुंचाया गया था. कुल 84 दूरदराज के इलाकों में सैटेलाइट फोन की व्यवस्था की गई थी. उन्होंने बताया कि पांचवे चरण में जिन 16 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव हुए वह छह जिलों में स्थित हैं. इनमें साहेबगंज जिले में राजमहल, बोरियो और बरहेट, पाकुड़ जिले में लिट्टीपाड़ा, पाकुड़ तथा महेशपुर, जामताड़ा जिले में नाला और जामताड़ा, दुमका जिले में शिकारीपाड़ा, दुमका, जामा और जरमुंडी, देवघर जिले में सारठ और गोड्डा जिले में पोडैयाहाट, गोड्डा और महगामा विधानसभा सीटें शामिल हैं. उन्होंने बताया कि पांचवे चरण के चुनाव में 236 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे थे जिनमें 207 पुरुष और 29 महिला प्रत्याशी शामिल हैं. जरमुंडी सीट से सबसे ज्यादा 26 और पोड़ैयाहाट सीट के लिए सबसे कम 7 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं. 

चिदंबरम का प्रधानमंत्री पर पलटवार कहा, विपक्ष को इस तरह की चुनौती देने का क्या मतलब है...

चुनावों में गडबड़ी की शिकायत के बाद पुलिस ने कांग्रेस के उम्मीदवार जामताड़ा के निवर्तमान विधायक इरफान अंसारी के पिता पूर्व विधायक फुरकान अंसारी को दोपहर बाद नारायणपुर थाने में बैठा लिया था. पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है. उन्होंने बताया कि अंतिम चरण में 16 सीटों के लिए मतदान का कार्य पूर्ण होने के बाद अब राज्य की सभी 81 सीटों के लिए मतदान का कार्य पूरा हो गया. इससे पूर्व चार चरणों में 30 नवंबर को 13, सात दिसंबर को 20 सीटों, 12 दिसंबर को 17 सीटों और 16 दिसंबर को 15 सीटों के लिए मतदान हुआ था. सभी सीटों के लिए मतगणना 23 दिसंबर को की जायेगी। इस आखिरी चरण में पूर्व मुख्यमंत्री और झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन, राज्य के कई मंत्रियों और झारखंड विकास मोर्चा के प्रदीप यादव का भाग्य तय होगा। सोरेन बरहेट और दुमका दोनों सीटों से चुनाव मैदान में हैं. 
 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com