Jharkhand Election Result: NCP का तंज- झारखंड के मतदाताओं ने मोदी-शाह के 'अहंकार' को किया चूर-चूर

एनसीपी के मुख्य प्रवक्ता नवाब मलिक (Nawab Malik) ने ट्वीट किया है, 'झारखंड के लोगों ने मोदी जी, अमित शाह और भाजपा के अहंकार को चूर-चूर कर दिया है. लोकतंत्र जीत गया है.'

Jharkhand Election Result: NCP का तंज- झारखंड के मतदाताओं ने मोदी-शाह के 'अहंकार' को किया चूर-चूर

झारखंड के चुनावी रुझानों में JMM-RJD और कांग्रेस गठबंधन आगे चल रहा है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • झारखंड के चुनावी रुझानों में गठबंधन आगे
  • एनसीपी ने नरेंद्र मोदी-अमित शाह पर कसा तंज
  • एनसीपी ने कहा- मतदाताओं ने चूर किया घमंड
नई दिल्ली:

झारखंड विधानसभा चुनाव (Jharkhand Election Results 2019) के शुरुआती रुझानों में कांग्रेस, झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) गठबंधन को सत्तारूढ़ भाजपा पर मिलती बढ़त के मद्देनजर सोमवार को एनसीपी ने कहा कि प्रदेश के लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) के अहंकार को चूर-चूर कर दिया है.

हाल ही में NDA का साथ छोड़ने वाली शिवसेना ने भी भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि झारखंड विधानसभा चुनाव के रुझानों ने स्पष्ट कर दिया है कि लोगों को अमित शाह नीत पार्टी की राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) जैसे भावनात्मक मुद्दों पर आधारित राजनीति रास नहीं आ रही है. एनसीपी के मुख्य प्रवक्ता नवाब मलिक (Nawab Malik) ने ट्वीट किया है, 'झारखंड के लोगों ने मोदी जी, अमित शाह और भाजपा के अहंकार को चूर-चूर कर दिया है. लोकतंत्र जीत गया है.'

दो सीटों से चुनाव लड़ने वाले हेमंत सोरेन क्या बनेंगे मुख्यमंत्री या अधूरा रह जाएगा सपना?

शिवसेना की प्रवक्ता मनीषा कयानडे ने कहा कि महाराष्ट्र में सत्ता पाने में असफल रहने के बाद भाजपा जब झारखंड में भी चुनाव हारती नजर आ रही है. इससे सवाल उठता है कि क्या लोगों को अब अमित शाह नीत पार्टी पर भरोसा है या नहीं. उन्होंने कहा, 'उन्होंने (भाजपा ने) पहले जनता से कहा कि वे विकास की राजनीति करेंगे, लेकिन अब वे असल मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए लोगों को भावनात्मक मुद्दों पर उलझा रहे हैं. ऐसा लगता है कि उन्हें एनआरसी जैसे मुद्दे उठाने का नुकसान हुआ है.'

Poll of Exit Polls: झारखंड में बीजेपी सत्ता से हो सकती है बाहर, कांग्रेस-JMM बना सकती हैं सरकार

राज्यसभा में शिवसेना के सदस्य संजय राउत ने भी भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि झारखंड के आदिवासियों और गरीबों ने अमित शाह नीत पार्टी को खारिज कर दिया है. संवाददाताओं से बातचीत के दौरान राउत ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने झारखंड चुनाव जीतने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाया. राउत ने कहा, 'भाषण दिए गए कि संशोधित नागरिकता कानून से झारखंड को मदद मिलेगी. फिर भी झारखंड के गरीबों और आदिवासियों ने भाजपा को नकार दिया. आंकड़े दिखा रहे हैं कि वहां कांग्रेस-झामुमो सरकार बनाएंगे. मुझे लगता है कि उन्हें (भाजपा को) आत्ममंथन करने की जरुरत है कि महाराष्ट्र के बाद वह झारखंड चुनाव भी क्यों हार गए.'

झारखंड विधानसभा चुनाव : हेमंत सोरेन के विवादित बयान पर बीजेपी पहुंची चुनाव आयोग

बताते चलें कि झारखंड विधानसभा चुनाव के रुझानों के अनुसार, झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन कुल 81 में से 42 सीटों पर आगे चल रहा है. सत्तारूढ़ भाजपा 28 सीटों पर आगे है. खुद मुख्यमंत्री रघुबर दास अपने निकटतम प्रतिद्वन्द्वी, निर्दलीय प्रत्याशी सरयू राय से जमशेदपुर (पूर्व) सीट पर पीछे चल रहे हैं. झारखंड में 30 नवंबर से 20 दिसंबर तक पांच चरणों में विधानसभा चुनाव संपन्न हुए.

Newsbeep

VIDEO: इस बार झारखंड की जनता का मूड एकतरफा लग रहा था: तेजस्वी यादव

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)