NDTV Khabar

झारखंड राज्यसभा चुनाव : एक-एक सीट बीजेपी और कांग्रेस में बंटी, काफी कशमकश के बाद परिणाम घोषित

बीजेपी के अधिकृत उम्मीदवार समीर उरांव एवं कांग्रेस के प्रत्याशी धीरज प्रसाद साहू को निर्वाचित घोषित

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
झारखंड राज्यसभा चुनाव :  एक-एक सीट बीजेपी और कांग्रेस में बंटी, काफी कशमकश के बाद परिणाम घोषित

झारखंड राज्‍यसभा चुनाव में विजयी हुए कांग्रेस के धीरज साहू और बीजेपी के समीर उरांव.

रांची: झारखंड में दो सीटों पर हुए राज्यसभा चुनाव का परिणाम बेहद दिलचस्प रूप में सामने आया. बीजेपी के समीर उरांव और कांग्रेस के धीरज साहू के सिर पर जीत का सेहरा सजा. यानि सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों को एक-एक सीट पर सफलता मिली.

चुनाव में समीर उरांव को 27 वोट मिले, जबकि धीरज साहू को 26 मत हासिल हुए. वहीं दूसरे सीट पर बीजेपी उम्मीदवार प्रदीप सोंथालिया को 25 मत मिले थे, लेकिन दूसरी वरीयता के कैल्कुलेशन के मुताबिक सोंथालिया का आंकड़ा 25.99 तक पहुंचा. इसके बाद धीरज साहू ने 0.1 वैल्यू से सोंथालिया को पराजित किया. हालांकि जेवीएम विधायक प्रकाश राम के क्रॉस वोटिंग के बाद विपक्ष के खेमे में खलबली मची रही, लेकिन चुनाव का रिजल्ट आने के बाद झारखंड में विपक्ष की एकजुटता को बल मिला.

दिन भर रही गहमागहमी
राज्यसभा चुनाव को लेकर शुक्रवार को दिन भर गहमागहमी रही. इस दौरान सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच शह और मात का खेल भी चलता रहा. बीजेपी जहां समीर उरांव के सीट को लेकर आश्वस्त थी, वहीं दूसरी सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार धीरज साहू से चुनावी मुकाबला कर रहे सोंथालिया को जीत दिलाने के लिए भी बीजेपी अपनी रणनीति को अमली जामा पहनाने को लेकर सक्रिय रही. ये सच है कि चुनावी रण आंकड़ों के हथियार से जीता जाता है. इस लिहाज से जहां बीजेपी और कांग्रेस ने एक-एक सीट पर कब्जा कर चुनावी मैच को बराबरी पर खत्म किया.

कांग्रेस उम्मीदवार को अन्य विपक्षी दलों का भी समर्थन हासिल था. चुनाव आयोग ने रात में काफी कशमकश के बाद जारी परिणामों में बीजेपी के अधिकृत उम्मीदवार समीर उरांव एवं कांग्रेस के प्रत्याशी धीरज प्रसाद साहू को निर्वाचित घोषित किया.

निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार के अनुसार 80 सदस्यीय विधानसभा में सौ फीसदी मतदान हुआ. इनमें से दो मतों को विभिन्न कारणों से अवैध घोषित कर दिया गया. इसके बाद वैध 78 मतों में से उरांव को 26.01 मत मिले और साहू को 26 मत मिले. उन्होंने बताया कि बीजेपी के दूसरे उम्मीदवार प्रदीप सोंथालिया को 25.99 मत मिले.

झारखण्ड में राज्यसभा चुनाव के लिए गुरुवार को सभी 80 विधायकों ने दोपहर तीन बजे तक मतदान कर दिया था. लेकिन झारखंड विकास मोर्चा के विधायक प्रकाश राम ने पार्टी का अनुशासन तोड़ते हुए अपना मतपत्र पार्टी के एजेंट को नहीं दिखाया जिससे उनका मत अवैध घोषित हो गया. झारखंड विधानसभा में कुल 80 सदस्य हैं और चुनावों में जीत के लिए किसी भी उम्मीदवार को प्रथम वरीयता के 27 मतों की आवश्यकता थी. विधानसभा में इस समय भाजपा के 43 एवं सहयोगी आल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन (आजसू) के चार विधायक हैं. कांग्रेस की ओर से उद्योगपति एवं पूर्व सांसद धीरज प्रसाद साहू को कांग्रेस के सात विधायकों के अलावा झारखंड मुक्ति मोर्चा के 18 विधायकों का समर्थन हासिल था.

टिप्पणियां

सत्तासीन BJP के लिए बेहद अहम हैं राज्यसभा चुनाव 2018, जानें सभी ज़रूरी बातें...

एनडीए की रणनीति थी कि विपक्ष के कुछ विधायक वोटिंग से दूर रहें. विपक्ष में नाराज विधायकों पर नजर रखी गई. झारखण्ड में पहले भी विधायक पलटी मारते रहे हैं.
(इनपुट एजेंसियों से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement