NDTV Khabar

JNU छात्रों से मिलने पहुंचे योगेंद्र यादव से मारपीट, कहा- मुझे धक्का देकर गिराया, चेहरे पर लात मारी

योगेंद्र यादव ने कहा, 'रविवार रात मेरे साथ तीन बार मारपीट की गई. करीब 9:30 बजे जब मैं JNU के टीचर्स से बात कर रहा था तो एक पुलिस इंस्पेक्टर जिनकी वर्दी पर नेम प्लेट नहीं थी, उन्होंने मुझे घसीटा और फिर ABVP और RSS के लोग मुझे धक्का देने लगे.'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
JNU छात्रों से मिलने पहुंचे योगेंद्र यादव से मारपीट, कहा- मुझे धक्का देकर गिराया, चेहरे पर लात मारी

पीड़ित छात्रों से मिलने पहुंचे योगेंद्र यादव के साथ भी मारपीट की गई. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. JNU में नकाबपोशों का तांडव
  2. 19 छात्र और 5 शिक्षक घायल
  3. योगेंद्र यादव को भी आईं चोटें
नई दिल्ली:

भारत की प्रतिष्ठित जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (Jawaharlal Nehru University) में बीते रविवार लाठी-डंडों से लैस करीब 50 नकाबपोश बदमाशों ने छात्रों व शिक्षकों पर हमला कर दिया. हमलावरों में लड़कियां भी शामिल थीं. आरोपियों ने हॉस्टल में तोड़फोड़ की और वहां खड़ी कारों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया. इस हमले में JNUSU अध्यक्ष आइशी घोष (Aishe Ghosh) बुरी तरह घायल हो गईं. हमले में कुल 24 लोग घायल हैं. इनमें 5 शिक्षक व 19 छात्र हैं. दिल्ली पुलिस ने बताया कि सभी घायलों की स्थिति खतरे से बाहर है. घायल छात्रों ने ABVP कार्यकर्ताओं पर मारपीट का आरोप लगाया है. वहीं, ABVP नेताओं का आरोप है कि लेफ्ट विंग के छात्रों ने उनके साथ मारपीट की है. घटना के बाद कई पार्टियों के नेता JNU पहुंचे थे. स्वराज इंडिया (Swaraj India) पार्टी के संस्थापक योगेंद्र यादव (Yogendra Yadav) भी छात्रों से मिलने के लिए JNU पहुंचे थे, जहां उनके साथ मारपीट की गई.

JNU में फिर बवाल- चेहरे पर नकाब बांधे लोगों ने छात्रों और टीचरों पर किया हमला, कई गंभीर रूप से घायल


योगेंद्र यादव ने कहा, 'रविवार रात मेरे साथ तीन बार मारपीट की गई. करीब 9:30 बजे जब मैं JNU के टीचर्स से बात कर रहा था तो एक पुलिस इंस्पेक्टर जिनकी वर्दी पर नेम प्लेट नहीं थी, उन्होंने मुझे घसीटा और फिर ABVP और RSS के लोग मुझे धक्का देने लगे. संस्कृत विभाग के प्रोफेसर मिश्रा भी उनके साथ थे. उन्होंने मेरा मफलर खींचा. मुझे गिरा दिया. मेरे मामूली चोटें आई हैं. मेरे उठने के बाद भी पुलिस मुझे धकियाते रही.'

उन्होंने आगे कहा, 'करीब 10:30 बजे एक बार फिर मुझपर हमला हुआ. 20-30 गुंडों ने हमला किया. उस समय मैं डी राजा के साथ था. वो लोग गालियां दे रहे थे. हमारे राष्ट्रगान गाने के दौरान उन्होंने मुझे और मेरी टीम को पीटा. उन्होंने मेरे चेहरे पर लात मारी. पुलिस ये सब देखती रही. डीसीपी बाद में वहां आए. इसके बाद मैं AIIMS ट्रॉमा सेंटर में इलाज के लिए पहुंचा था. रात 12:30 बजे के करीब इंस्पेक्टर शिवराज ने मेरे साथी राजा और मेरे ड्राइवर को मारा और ADCP परविंदर सिंह के सामने मुझे धक्का दिया. वो ये जानते थे कि मुझे चोटें आई हैं.'

JNU में बवाल: मदद के लिए दो घंटे के बाद भी नहीं आई पुलिस - JNU शिक्षक

बताते चलें कि JNU में छात्रों से मारपीट के विरोध में रविवार देर रात ही कई शहरों में प्रदर्शन किए गए. बीती रात मुंबई में गेटवे ऑफ इंडिया के पास छात्रों ने कैंडल मार्च निकाला. अभी भी कुछ छात्र वहां प्रदर्शन कर रहे हैं. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी कैंडल मार्च निकाला गया. राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, पी चिदंबरम, अरविंद केजरीवाल, वृंदा करात सहित कई बॉलीवुड हस्तियों ने भी घटना की निंदा करते हुए दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग की है. गृह मंत्री अमित शाह ने घटना की निंदा करते हुए दिल्ली पुलिस के कमिश्नर अमूल्य पटनायक से बात की. सूत्रों की मानें तो अमित शाह ने आईजी स्तर के अधिकारी की अगुवाई में कमेटी का गठन कर जांच करने और जल्द इसकी रिपोर्ट गृह मंत्रालय को सौंपने के निर्देश दिए हैं.

टिप्पणियां

VIDEO: JNU के बाहर देर रात तक होती दिखी हलचल, घायल छात्रों के समर्थन में पहुंच रहे लोग



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... कश्मीरी पंडितों का दर्द हमने कितना समझा?

Advertisement