NDTV Khabar

JNU के पूर्व छात्रों ने पुलिस पर लगाया चोरी का आरोप, कहा- फ्लैट का ताला तोड़कर ले गए 76 लाख रुपए का सामान

नागपुर में शोध कर रहे एक दंपति ने आरोप लगाया कि उनकी गैरमौजूदगी में पुलिस ने उनके किराये के फ्लैट का ताला तोड़कर दस्तावेज और 76 लाख रुपए का सामान चुरा लिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
JNU के पूर्व छात्रों ने पुलिस पर लगाया चोरी का आरोप, कहा- फ्लैट का ताला तोड़कर ले गए 76 लाख रुपए का सामान

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय की इमारत.

नागपुर:

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University) के पूर्व छात्र ने पुलिस पर उनके फ्लैट से चोरी करने का आरोप लगाया है.जेएनयू(JNU)के पूर्व छात्र और नागपुर में शोध कर रहे एक दंपति ने आरोप लगाया कि उनकी गैरमौजूदगी में पुलिस ने उनके किराये के फ्लैट का ताला तोड़कर दस्तावेज और 76 लाख रुपए का सामान चुरा लिया. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कथित घटना पिछले साल हुई थी, जिसके बाद प्राथमिकी दर्ज की गई थी और जांच का आदेश दिया गया था. जांच रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है.    

डॉ. शिवशंकर दास और उनकी पत्नी डॉ. शिप्रा उकरे ने मीडिया को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि जब वे बाहर थे तो बजाजनगर थाने के तीन कर्मी उनके मकान मालिक से साथ साठगांठ करके लक्ष्मीनगर में स्थित उनके फ्लैट में घुसे. दंपति ने आरोप लगाया कि पुलिसकर्मियों ने पासपोर्ट, शैक्षणिक प्रमाण पत्र, डिग्री, मार्कशीट, विदेशी मुद्रा, लैपटॉप, नकदी, आभूषण और अनुसंधान डेटा सहित दस्तावेज और कीमती सामान चुरा लिया.    उन्होंने कहा कि कथित घटना 29 सितंबर 2018 की है.


Exclusive:जेएनयू मामले में दाखिल चार्जशीट में कन्हैया, उमर और अनिर्बान के खिलाफ इन सबूतों का है जिक्र

संपर्क करने पर पुलिस उपायुक्त (ज़ोन एक), विवेक मसल ने कहा कि मकान मालिक और दंपति के बीच विवाद रहा है. उन्होंने कहा कि मकान मालिक चाहते हैं कि दंपति उनका फ्लैट खाली करे. उन्होंने इस बाबत पुलिस को तहरीर भी दी है. मसल ने कहा कि किरायेदार की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की गई है. उन्होंने कहा कि अपराध शाखा के एसीपी ने जांच की है. जांच पूरी हो गई है और रिपोर्ट का इंतजार है. इसके बाद दोषी पाए जाने पर पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

(इनपुट- भाषा)

कन्हैया कुमार ने कहा- चार्जशीट चुनावी स्टंट, मोदी सरकार को धन्यवाद

टिप्पणियां

VIDEO- जेएनयू मामले में आम चुनाव से तीन महीने पहले ही चार्जशीट क्‍यों?

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement