JNU देशद्रोह मामला : मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल बोले, जल्द से जल्द फैसले के लिए...

दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में कथित तौर पर लगाए गए देश विरोधी नारों के मामले में अरविंद केजरीवाल ने अहम बयान दिया

JNU देशद्रोह मामला : मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल बोले, जल्द से जल्द फैसले के लिए...

अरविंद केजरीवाल ने जेएनयू में कथित तौर पर लगाए गए देश विरोधी नारों के मामले को लेकर महत्वपूर्ण बयान दिया है.

खास बातें

  • फरवरी 2016 में दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में लगे थे नारे
  • केजरीवाल ने कहा- संबंधित विभाग में उनकी कोई दखलंदाजी नहीं
  • उस विभाग के निर्णय को नहीं बदल सकते, लेकिन फैसला लेने के लिए कहेंगे
नई दिल्ली:

फरवरी 2016 में दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में कथित तौर पर लगाए गए देश विरोधी नारों के मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने एक अहम बयान दिया है. अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि जो भी संबंधित विभाग है उसमें उनकी कोई दखलंदाजी नहीं है. उनके निर्णय को वे नहीं बदल सकते.

दिल्ली सरकार के मुख्यालय दिल्ली सचिवालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से पूछा गया कि दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट दिल्ली सरकार से जेएनयू देशद्रोह मामले में फैसला लेने के लिए कह रही है, इस पर आपका क्या पक्ष है? इस पर अरविंद केजरीवाल ने कहा 'जो भी संबंधित विभाग है उसमें मेरी कोई दखलंदाजी नहीं है. मैं पता करता हूं. उनके निर्णय को मैं नहीं बदल सकता लेकिन इतना उनको जरूर कहूंगा कि वह जल्द से जल्द इस पर निर्णय करें.'

आपको बता दें कि फरवरी 2016 में दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में कथित देश विरोधी नारे लगाने का मामला सामने आया था. इस मामले में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र संघ के अध्यक्ष रहे कन्हैया कुमार, उमर खालिद, अनिर्बान भट्टाचार्य समेत 10 लोगों के ख़िलाफ़ दिल्ली पुलिस ने देशद्रोह के आरोप में चार्जशीट दायर की है.

JNU देशद्रोह मामला: आठ महीने बाद भी चार्जशीट को लेकर कोई फैसला नहीं कर पाई दिल्ली सरकार

इस पर दिल्ली सरकार को फैसला करना है. दिल्ली पुलिस ने इस मामले में जनवरी 2019 में चार्जशीट दाखिल की थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : जेएनयू केस को लेकर दिल्ली सरकार को फटकार