हिंसा में शामिल हो सकते हैं बाहरी लोग, उनका विश्वविद्यालय से कोई लेनादेना नहीं : JNU के वीसी

जेएनयू के वाइस चांसलर एम जगदीश कुमार ने आज छात्रों के एक समूह से बातचीत में कहा है कि कुछ एक्टविस्ट छात्रों ने आतंक फैलाया कि कुछ छात्रों को हॉस्टल छोड़कर जाना पड़ा.

हिंसा में शामिल हो सकते हैं बाहरी लोग, उनका विश्वविद्यालय से कोई लेनादेना नहीं : JNU के वीसी

JNU के वीसी ने छात्रों के साथ बातचीत की है

नई दिल्ली:

जेएनयू के वाइस चांसलर एम जगदीश कुमार ने आज छात्रों के एक समूह से बातचीत में कहा है कि कुछ एक्टविस्ट छात्रों ने आतंक फैलाया कि कुछ छात्रों को हॉस्टल छोड़कर जाना पड़ा. कुछ दिनों से हमने सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है ताकि निर्दोष छात्रों को कोई नुकसान न हो. वाइस चांसलर ने कहा कि यह भी एक समस्या है कि कुछ छात्र अवैध तरीके से छात्रावासों में रहते हैं, वह बाहरी भी हो सकते हैं इस बात की आशंका है कि वे भी हिंसा में शामिल होते हैं क्योंकि इनका विश्वविद्यालय से कुछ भी लेना-देना नहीं है. आपको बता दें कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एचआरडी) ने शुक्रवार को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के कुलपति, छात्र संघ और यूजीसी के साथ जेएनयू शुल्क वृद्धि के मुद्दे पर बैठकें करके प्रदर्शनकारियों से अपने आंदोलन को समाप्त करने की अपील की. मंत्रालय ने कहा कि विश्वविद्यालय शुल्क वृद्धि में संशोधन की बुनियादी मांग को मानने पर सहमत हो गया है. मंत्रालय के अधिकारियों ने छात्र संघ के सदस्यों से कहा कि उन्हें उपादेयता और सेवा शुल्क का भुगतान नहीं करना होगा और पूर्व में किए गए वादे के अनुरूप यूजीसी इसे वहन करेगा. 

हालांकि मंत्रालय ने प्रोक्टोरियल जांच को बंद करने और छात्रसंघ की अधिसूचना जारी करने जैसी अन्य मांगों को लेकर कोई वादा नहीं किया है. वहीं दिल्ली पुलिस ने हिंसा के मामले में एक प्रेस कॉन्फ्रेस कर कुछ तथ्य रखे हैं. पुलिस की ओर से प्रारंभिक जांच में लेफ्ट छात्रों पर आरोप लगाए गए और इनके संगठनों का भी नाम लिया लेकिन एबीवीपी के बारे में कुछ नहीं कहा है जिससे पुलिस भी सवालों के घेरे में है.

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि जेएनयू में फीस बढ़ोत्तरी को लेकर कई दिनों से छात्रों का आंदोलन चल रहा है. इस बीच कई बार छात्र गुटों के बीच हिंसा की भी खबरे आईं लेकिन कुछ दिन पहले नकाबपोशों के एक समूह ने रात में छात्रों पर हमला कर दिया जिसमें कई लोग घायल हो गए हैं.