NDTV Khabar

जेएनयू में 'राष्ट्रभक्ति' जगाने के लिए वीसी ने की सेना के टैंक की मांग, जानें क्या है माजरा

यह मांग जेएनयू में कारगिल विजय दिवस मनाए जाने के दौरान की गई. इस कार्यक्रम में भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि दी गई थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जेएनयू में 'राष्ट्रभक्ति' जगाने के लिए वीसी ने की सेना के टैंक की मांग, जानें क्या है माजरा

जेएनयू में सेना के टैंक की मांग

खास बातें

  1. जेएनयू में मनाया गया करगिल विजय दिवस
  2. वीसी ने की सेना के टैंक की मांग
  3. छात्रों को सेना का बलिदान याद आता रहे
नई दिल्ली: जेएनयू के कुलपति एम जगदीश कुमार जेएनयू कैंपस के अंदर सेना का एक टैंक रखना चाहते हैं. दरअसल, रविवार को करगिल विजय दिवस के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम में कुलपति एम जगदीश कुमार ने केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान और जनरल वीके सिंह से गुजारिश की कि वे यूनिवर्सिटी को सेना का एक टैंक दिलवाने में मदद करें.उनके मुताबिक टैंक को कैंपस में एक जगह रखा जाएगा जो छात्रों को सेना के बलिदान की याद दिलाता रहे. आपको बता दें कि जेएनयू में रविवार को पहली बार करगिल विजय दिवस समारोह का आयोजन किया गया था और तिरंगा मार्च भी निकाला गया. इस मार्च का आयोजन यूनिवर्सिटी प्रशासन और वेटरंस इंडिया ने मिलकर किया था. इस मार्च में दो केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, जनरल वी के सिंह के अलावा वेटरंस इंडिया के मेंटर मेजर जनरल जीडी बख़्शी और क्रिकेटर गौतम गंभीर समेत 23 शहीदों के परिजन भी शामिल हुए. 

यह भी पढ़ें- JNU की विदेशी छात्रा के सामने सरेआम करने लगा 'गंदी हरकत', चढ़ा पुलिस के हत्थे

VIDEO- जेएनयू में आर्मी टैंक की मांग

करगिल विजय दिवस मनाया गया
जेएनयू में करगिल विजय दिवस मनाए जाने के दौरान भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि दी गई थी.गौरतलब है कि पिछले साल कथित भारत-विरोधी नारेबाजी के कारण जेएनयू विवादों में घिरा रहा था.

यह भी पढ़ें- जेएनयू के छात्र नजीब को लापता हुए नौ माह बीते, सीबीआई ने जांच के लिए और वक्त मांगा

2,200 फुट लंबा तिरंगा लेकर मार्च किया

टिप्पणियां
गौरतलब है कि जेएनयू के शिक्षकों और छात्रों ने कारगिल के शहीदों के परिजन और पूर्व सैनिकों के संगठन ‘वेटरंस इंडिया’ के सदस्यों के साथ 2,200 फुट लंबा तिरंगा लेकर एक मार्च निकाला और जेएनयू के कन्वेंशन सेंटर, जहां परमवीर चक्र से सम्मानित जवानों की तस्वीरें लगाई गई थीं, में स्थित ‘वॉल ऑफ हीरोज’ पर श्रद्धांजलि अर्पित की. कार्यक्रम में थलसेना बैंड का भी एक कार्यक्रम हुआ. इस मौके पर, कारगिल में शहीद हुए सैनिकों के परिवार की महिला सदस्यों को सम्मानित किया गया. जेएनयू के कुलपति एम जगदीश कुमार ने कार्यक्रम को ‘ऐतिहासिक’ करार दिया और कहा कि यह थलसेना और देश के अन्य सुरक्षा बलों के बलिदान को याद करने के लिए एक अहम दिन था.




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement