NDTV Khabar

JNUSU Election Result 2018 Live Updates: लेफ्ट यूनिटी के उम्मीदवारों ने चारों सीटों पर दर्ज की जीत

दिल्ली के प्रतिष्ठित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव के नतीजे आज आने की उम्मीद है. बशर्ते शनिवार की तरह कोई बाधा उत्पन्न न हो.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
JNUSU Election Result 2018 Live Updates: लेफ्ट यूनिटी के उम्मीदवारों ने चारों सीटों पर दर्ज की जीत

JNUSU Election Result 2018: जेएनयूएसयू छात्रसंघ चुनाव

नई दिल्ली: दिल्ली के प्रतिष्ठित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव के नतीजे आज आने की उम्मीद है. बशर्ते शनिवार की तरह कोई बाधा उत्पन्न न हो. जेएनयूएसयू यानी जवाहर लाल नेहरू छात्र संघ चुनाव में हिंसा, विरोध-प्रदर्श और तवान के बाद रात में वोटों की गिनती शुरू हुई. इससे पहले  जेएनयू छात्रसंघ (जेएनयूएसयू) चुनावों में मतों की गिनती को निर्वाचन अधिकारियों ने मतगणना स्थल पर ‘‘जबरन प्रवेश’’ और ‘‘मतपेटियों को छीनने के प्रयासों’’ का हवाला देकर शनिवार को स्थगित कर दिया. इससे पहले मतगणना प्रक्रिया के शुरू होने की जानकारी न मिलने का दावा करते हुए एबीवीपी ने प्रदर्शन किया. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) की छात्र इकाई अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने चुनाव अधिकारियों पर वामपंथी संगठनों के साथ पक्षपात करने का आरोप लगाते हुए अदालत जाने की धमकी दी. इसके बाद जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में गतिरोध 12 घंटे से बरकरार है. वामपंथी संगठनों ने आरोप लगाया कि एबीवीपी कार्यकर्ता हिंसा में शामिल थे हालांकि भगवा संगठन ने इससे इनकार किया है.
 

JNUSU Election Result 2018 Live Updates : 

ज्वाइंट सेक्रेटरी पद पर लेफ्ट यूनिटी की अमुथा ने 1552 वोट हासिल कर दर्ज की जीत. एबीवीपी के वेंकट चौबे को मिले 941 मत. 
- जनरल सेक्रेटरी के पद पर लेफ्ट यूनिटी के ऐजाज को 2113 वोट मिले. वहीं एबीवीपी के गणेश 863 वोट के साथ दूसरे स्थान पर रहे. 
उपाध्यक्ष पद पर लेफ्ट की सारिका ने 2309 वोट के साथ जीत हासिल की. वहीं एबीवीपी के गीता श्री 871 वोट के साथ दूसरे स्थान पर रहीं. 
- लेफ्ट के उम्मीदवार एन साईं बालाजी को मिले 1871 वोट. वहीं एबीवीपी के ललित पांडे 937 वोट के साथ दूसरे स्थान पर रहे
- लेफ्ट यूनिटी के उम्मीदवारों ने चारों सीटों पर दर्ज की जीत
- लेफ्ट यूनिटी के उम्मीदवार सेंट्रल पैनल के चारों पदों पर जीत की ओर बढ़ रहे हैं. 
- सेंट्रल पैनल में अध्यक्ष पद पर लेफ्ट यूनिटी के उम्मीदवार एकतरफा जीत की ओर. 
- सेंट्रल पैनल के 5185 में से 4481 वोटों की गिनती पूरी, लेफ्ट यूनिटी लीड पर. 
- अध्यक्ष पद पर लेफ्ट यूनिटी के उम्मीदवार बालाजी एबीवीपी के उम्मीदवार के मुकाबले दोगुने वोट से आगे हैं.
- दोपहर बाद तक फाइनल रिजल्ट आने की संभावना है. 
- मतगणना स्थल के बाहर सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था की गई है. 
- सेंट्रल पैनल में 5185 वोट में से 3281 मतों की गिनती हो चुकी है. 
- अभी तक के रुझानों के मुताबिक लेफ्ट यूनिटी के उम्मीदवार सेंट्रल पैनल के चारों पदों पर लीड कर रहे हैं. 


JNUSU Election 2018: जेएनयूएसयू चुनाव में रिकॉर्ड 70 फीसदी मतदान, रविवार तक रिजल्ट आने की उम्मीद

बता दें कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय यानी जेएनयू छात्रसंघ चुनाव  (JNUSU Election Result 2018) में शुक्रवार को लगभग 70 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया. यह जेएनयू छात्रसंघ चुनाव में अबतक का सर्वाधिक मतदान प्रतिशत है. निर्वाचन समिति की तरफ से प्राप्त जानकारी के अनुसार, कुल 7,650 वोटों में से 5,185 वोट डाले गए. अनअधिकारिक सूत्रों के अनुसार, यह पहला मौका है जब इतनी बड़ी संख्या में छात्रसंघ चुनाव में मतदान किया है.


मतगणना प्रक्रिया की जानकारी नहीं मिलने का आरोप लगाते हुए एबीवीपी सदस्यों ने शनिवार की सुबह विरोध जताया जिसके बाद मतगणना स्थगित कर दी गई. चुनाव समिति ने एक बयान जारी कर कहा कि उसने मतगणना एजेंटों के आने के लिये घोषणा की थी और नियमों का पालन किया गया. जेएनयू चुनाव समिति के मुताबिक, ‘‘14 सितंबर को रात 10 बजे शुरू हुई मतगणना प्रक्रिया को मतगणना स्थल पर जबरन प्रवेश और सीलबंद मत पेटियों एवं मतपत्रों को छीनने की कोशिश के बाद स्थगित कर दिया गया था.’’    इसमें कहा, ‘सोशल मीडिया और छात्रों के बीच एक दुर्भावनापूर्ण झूठ फैलाया जा रहा है कि निर्वाचन समिति ने तीन बार घोषणा नहीं की तथा सेंट्रल पैनल फॉर कंबाइंड स्कूल्स एंड स्पेशल सेंटर्स के मतगणना एजेंटों के प्रवेश के साथ ही गिनती शुरू कर दी.’

समिति ने कहा कि निर्वाचन समिति स्पष्ट करना चाहती है कि उसने मतगणना शुरू होने के लिये तीन बार घोषणा की और लाउडस्पीकर के जरिये बाहर (मतगणना स्थल के) खड़े छात्रों को भी इसकी जानकारी दी. समिति ने कहा, ‘इसके बाद निर्वाचन समिति के सदस्यों ने सुरक्षाकर्मियों को इसके बारे में सूचना दी और उनसे अगर कोई मतगणना एजेंट हो तो उसे इकट्ठा करने को कहा.’    उन्होंने कहा, ‘‘10 उम्मीदवारों के 14 मतगणना एजेंट मतगणना स्थल पर पहुंचे. इसके बाद मतगणना प्रक्रिया शुरू हुई. मतगणना एजेंटों की मौजूदगी में सील बक्सों को खोला गया.’ 

तय मानकों के मुताबिक, एक बार बक्सों की सील खुलने के बाद कोई नया मतगणना एजेंट मतगणना स्थल पर नहीं जा सकता. इसमें कहा गया, ‘‘निर्वाचन समिति ने नए मतगणना एजेंटों को उस मतगणना स्थल पर प्रवेश देने के अनुरोध को खारिज कर दिया. कुछ छात्र जबरन इमारत में घुस गए और मतगणना स्थल पर पहुंच गए जिसके बाद हमें मतगणना प्रक्रिया रोकनी पड़ी.’ 

टिप्पणियां
पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त ने दिल्ली विश्वविद्यालय को EVM मशीन देने से मना किया था

संबंधित पक्षों से गतिरोध दूर करने के लिये बातचीत की कोशिश की गई जिससे मतगणना प्रक्रिया शुरू की जा सके. समिति के सदस्यों ने कहा कि उसके सदस्यों (महिला सदस्यों को भी) धमकाया गया.  एबीवीपी की जेएनयू इकाई के अध्यक्ष विजय कुमार ने कहा कि अगर उन्हें इंसाफ नहीं मिला तो वे दिल्ली उच्च न्यायालय जाने से भी नहीं हिचकेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘वोटों की गिनती नियमों का पालन किये बिना की जा रही है. निर्वाचन समिति ने चुनाव प्रक्रिया के लिये न्यूनतम जरूरतों का भी पालन नहीं किया.’    (इनपुट भाषा)
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement