NDTV Khabar

JNUSU अध्यक्ष आइशी घोष ने NDTV से कहा- पुलिस से की थी बाहरी लोगों के कैंपस में होने की शिकायत, पर नहीं हुआ कोई एक्शन

दिल्ली स्थित जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में बीते रविवार छात्रों और शिक्षकों से जमकर मारपीट की गई. 50 से ज्यादा नकाबपोश हमलावरों ने इस वारदात को अंजाम दिया. वह लोग अपने साथ लोहे की रॉड, लाठी-डंडे और धारदार हथियार लेकर कैंपस में दाखिल हुए थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
JNUSU अध्यक्ष आइशी घोष ने NDTV से कहा- पुलिस से की थी बाहरी लोगों के कैंपस में होने की शिकायत, पर नहीं हुआ कोई एक्शन

हमले में JNU अध्यक्ष आइशी घोष को भी काफी चोटें आई हैं.

खास बातें

  1. आइशी घोष के सिर पर लगी है चोट
  2. 'बाहरी लोग कैंपस में घुसे थे'
  3. 'दोपहर को पुलिस से की थी शिकायत'
नई दिल्ली:

दिल्ली स्थित जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (Jawaharlal Nehru University) में बीते रविवार छात्रों और शिक्षकों से जमकर मारपीट की गई. 50 से ज्यादा नकाबपोश हमलावरों ने इस वारदात को अंजाम दिया. वह लोग अपने साथ लोहे की रॉड, लाठी-डंडे और धारदार हथियार लेकर कैंपस में दाखिल हुए थे. JNU छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष (Aishe Ghosh) के हाथों और सिर पर वार किया गया, जिससे वह लहूलुहान हो गईं. हमले में घायल हुए सभी छात्रों और शिक्षकों को AIIMS ले जाया गया, जहां सोमवार सुबह उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया. आइशी ने NDTV से बातचीत में कहा कि रविवार को बाहरी लोगों के कैंपस में होने की खबरें थीं और हमने इस बारे में पुलिस से शिकायत भी की थी.

आइशी घोष ने कहा, 'दोपहर से ऐसी खबरें थीं कि बाहरी लोग कैंपस में दाखिल हुए हैं. जिसके बाद दोपहर करीब ढाई बजे हमने पुलिस से इसकी शिकायत की. हमने पुलिस से कहा कि हम सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे हैं. वह लोग बाहर से अंदर कैसे आए. वीसी एम. जगदीश कुमार की वजह से ये सब हुआ है. उनको इस्तीफा देना चाहिए. MHRD को उनको हटाना चाहिए.'


JNU में हिंसा के बीच छात्रों को लोहे के रॉड से पीटने का दिल-दहला देने वाला VIDEO आया सामने

उन्होंने आगे कहा, 'मेरे सिर में दर्द हो रहा है. 15-16 टांके आए हैं. हाथ में भी चोट लगी है. JNUTA का शांतिपूर्ण प्रदर्शन था. हम शांति की अपील कर रहे थे. हमारा फोकस सिर्फ फीस बढ़ोतरी को वापस कराने पर था. JNUTF ने हमें पहले भी धमकाया था. 4-5 दिन से ऐसा माहौल था. आज (सोमवार) हमें MHRD तक मार्च करना था. इससे पहले हम पर हमला हो गया. नकाबपोश हमलावरों ने लोहे की रॉड से मारा. कुछ छात्र टारगेट पर थे और उन्होंने कुछ कॉमन स्टूडेंट्स को भी पीटा.'

JNU में फिर बवाल- चेहरे पर नकाब बांधे लोगों ने छात्रों और टीचरों पर किया हमला, कई गंभीर रूप से घायल

बताते चलें कि JNU में रविवार शाम हुए हमले में कई छात्रों के हाथ-पैर फ्रैक्चर हुए हैं. ABVP कार्यकर्ताओं पर छात्रों से मारपीट का आरोप लगा है. ABVP पदाधिकारियों ने आरोपों को खारिज करते हुए दावा किया कि लेफ्ट समर्थित छात्रों ने उनके साथ मारपीट की है. कई कार्यकर्ता अस्पताल में भर्ती हैं. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने इस मामले में मिली सभी शिकायतों को मिलाकर एक केस दर्ज किया है. क्राइम ब्रांच को केस की जांच सौंप दी गई है. पुलिस ने कुछ हमलावरों की पहचान की है. पुलिस जल्द आरोपियों को गिरफ्तार करने की बात कह रही है.

टिप्पणियां

VIDEO: JNU के बाहर देर रात तक होती दिखी हलचल, घायल छात्रों के समर्थन में पहुंच रहे लोग



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... कश्मीरी पंडितों का दर्द हमने कितना समझा?

Advertisement