SC में बतौर जज अपने आखिरी दिन पर बोले जस्टिस अरुण मिश्रा, कहा- अपने विवेक से हर मामले को निपटाया...

जस्टिस अरुण मिश्रा ने कहा कि मैंने अपने विवेक के साथ हर मामले को निपटाया है. कभी-कभी प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से मैं अपने आचरण में बहुत कठोर होता हूं.

SC में बतौर जज अपने आखिरी दिन पर बोले जस्टिस अरुण मिश्रा, कहा- अपने विवेक से हर मामले को निपटाया...

सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस अरुण मिश्रा का बतौर जज आज आखिरी दिवस था

नई दिल्ली:

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में जस्टिस अरुण मिश्रा (Justice Arun Mishra) का बतौर जज आज आखिरी दिवस था. कोर्ट परिसर में अपने लंबे सफर के आखिरी दिन जस्टिस मिश्रा (Justice Mishra) थोड़े भावुक नजर आए, उन्होंने अपने सभी साथियों का शुक्रिया अदा किया. जस्टिस अरुण मिश्रा ने कहा कि मैंने अपने विवेक के साथ हर मामले को निपटाया है. उन्होंने कहा कि कभी-कभी प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से मैं अपने आचरण में बहुत कठोर होता हूं. किसी को भी दुख नहीं होना चाहिए. उन्होंने कहा कि प्रत्येक फैसले का विश्लेषण करें और इसे इस तरह या उस तरह से रंग न दें.  

Newsbeep

जस्टिस अरुण मिश्रा ने कहा कि अगर मैंने किसी को चोट पहुंचाई है तो कृपया मुझे माफ करें. अवमानना के अंतिम मामले में भी, एजी ने कहा कि वह (भूषण के लिए) कोई सजा नहीं चाहते थे.जस्टिस मिश्रा के अनुसार मैं जो कुछ भी कर सकता था वह इस न्यायालय की सर्वोच्च शक्तियों से हुआ. मैंने जो कुछ भी किया है उसके पीछे आप सभी जजों की शक्ति थी. उन्होंने कहा कि मैंने बार के सदस्यों से बहुत कुछ सीखा है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बकौल अरुण मिश्रा, कानून की इतनी सारी शाखाएं मैंने बार सदस्यों से सीखी हैं. आप तथ्यों में महारत हासिल कर सकते हैं लेकिन बहुत सारे स्थानीय कानून हैं और वकीलों द्वारा उन की व्याख्या की जाती है.न्यायमूर्ति मिश्रा ने सभी को हार्दिक धन्यवाद दिया.