ज्‍योतिरादित्‍य सिंध‍िया की दो टूक, 'कांग्रेस में का‍बिल नेताओं की कद्र नहीं, सचिन पायलट ने भी...'

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, "पायलट मेरे मित्र हैं. उन्होंने जो पीड़ा झेली है, उससे सब लोग वाकिफ हैं. कांग्रेस किस तरह इतने विलंब के बाद अपना घर दुरुस्त करने की कोशिश कर रही है, इस बात से भी सब वाकिफ हैं."

ज्‍योतिरादित्‍य सिंध‍िया की दो टूक, 'कांग्रेस में का‍बिल नेताओं की कद्र नहीं, सचिन पायलट ने भी...'

ज्‍योतिरादित्‍य पांच माह पहले ही कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए हैं

इंदौर:

कांग्रेस नेतृत्व पर हमले जारी रखते हुए राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में काबिल नेताओं पर सवालिया निशान खड़ा किया जाता है और उनके पूर्व दलीय सहयोगी सचिन पायलट ने भी हाल ही में यही स्थिति झेली है. कांग्रेस का दामन छोड़कर करीब पांच महीने पहले भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल होने वाले सिंधिया ने यहां संवाददाताओं से कहा, "पायलट मेरे मित्र हैं. उन्होंने जो पीड़ा झेली है, उससे सब लोग वाकिफ हैं. कांग्रेस किस तरह इतने विलंब के बाद अपना घर दुरुस्त करने की कोशिश कर रही है, इस बात से भी सब वाकिफ हैं."उन्होंने कहा, "यह दु:ख की बात है कि कांग्रेस में काबिलियत पर प्रश्न चिन्ह खड़ा किया जाता है. यही स्थिति मेरे पूर्व सहयोगी (पायलट) ने भी झेली है."

मध्‍य प्रदेश की शिवराज सरकार के मंत्रिमंडल में 'महाराज' के समर्थकों का 'जलवा'..

सिंधिया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की जमकर तारीफ करते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया गया है, अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास किया गया है और चीन को ईंट का जवाब पत्थर से दिया गया है.बीजेपी के वरिष्ठ नेता ने कहा कि मोदी सरकार के इन अहम कदमों के बाद कांग्रेस अब पूरी तरह विफलता की राह पर जा रही है.‘वॉल स्ट्रीट जर्नल' की एक रिपोर्ट की पृष्ठभूमि में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने बीजेपी तथा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पर फेसबुक तथा व्हाट्सएप का इस्तेमाल करते हुए मतदाताओं को प्रभावित करने के लिये "फर्जी खबरें" फैलाने का आरोप लगाया है. इस आरोप को लेकर प्रतिक्रिया मांगे जाने पर सिंधिया ने कहा, "इंटरनेट एक स्वतंत्र माध्यम है. लेकिन जनता का विश्वास खोने वाले लोगों के पास जब कहने को कुछ नहीं होता है, तो इन मुद्दों को पकड़ा जाता है."

सिंधिया ने हालांकि कहा, "मैं इस बात का पक्षधर हूं कि फेसबुक, व्हाट्सएप और अन्य सोशल मीडिया मंचों पर किसी भी व्यक्ति के खिलाफ कही जाने वाली आपत्तिजनक बातों पर सख्ती से लगाम लगायी जानी चाहिए."पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी द्वारा वर्ष 1985 में अयोध्या में राम मंदिर का ताला खुलवाये जाने को लेकर वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमलनाथ के एक कथन से जुड़े सवाल पर सिंधिया ने दावा किया कि इसी पार्टी के नेता शशि थरूर राम मंदिर मुद्दे पर इसके विरोधाभासी बयानबाजी कर रहे हैं.उन्होंने कहा, "कांग्रेस (राम मंदिर मुद्दे पर) अपने आप में उलझ रही है. इस पार्टी को नहीं पता कि उसके नेताओं ने क्या किया है और क्या नहीं?"

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

राज्यसभा में शपथ ग्रहण के दौरान दिग्विजय-सिंधिया का आमना-सामना



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)