मध्य प्रदेश में 27 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर ज्योतिरादित्य सिंधिया का बड़ा बयान

सिंधिया ने कहा कि वर्ष 2018 में हुए विधानसभा चुनाव के बाद 15 वर्ष बाद जब मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी तो उसमें ग्वालियर-चंबल का बहुत योगदान था.

मध्य प्रदेश में 27 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर ज्योतिरादित्य सिंधिया का बड़ा बयान

बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया (फाइल फोटो)

भोपाल:

मध्य प्रदेश में 27 विधानसभा सीटों पर होने वाले आगामी उपचुनाव को महत्वपूर्ण बताते हुए भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया सोमवार को कहा कि आने वाला उपचुनाव मध्य प्रदेश का भविष्य़ तय करेगा और जनता तय करेगी कि उसे कौन चाहिए बड़ा-छोटा भाई या त्रिमूर्ति. राज्यसभा सदस्य सिंधिया ने अपना गढ़ माने जाने वाले ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में भाजपा के तीन दिवसीय सदस्यता अभियान के अंतिम दिन ग्वालियर में कहा, ‘‘आने वाला उपचुनाव न्याय और सम्मान का है और जो व्यक्ति जनता के बीच नहीं रहता, उसे वोट मांगने का कोई हक नहीं है. आने वाला चुनाव मध्य प्रदेश का भविष्य तय करेगा.''

उन्होंने आगे कहा, ‘‘जनता तय करेगी कि बड़ा-छोटा भाई (कमलनाथ-दिग्विजय सिंह) या फिर त्रिमूर्ति (मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर व ज्योतिरादित्य सिंधिया) चाहिए.'' पूर्व केन्द्रीय मंत्री सिंधिया ने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री चौहान ने गोहद (भिण्ड जिले का विधानसभा क्षेत्र) के लिए तुरंत 110 करोड़ रुपए की योजना स्वीकृत कर दी. वहीं कमलनाथ (अपनी तत्कालीन सरकार के दौरान) धन की कमी का रोना रोते थे.'' पूर्ववर्ती कमलनाथ सरकार पर तंज कसते हुए उन्होंने सवाल किया, ‘‘अब यह धन कहां से आ गया?''

ज्योतिरादित्य सिंधिया की ग्वालियर वापसी पर बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने, सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जिया

Newsbeep

सिंधिया ने कहा कि वर्ष 2018 में हुए विधानसभा चुनाव के बाद 15 वर्ष बाद जब मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी तो उसमें ग्वालियर-चंबल का बहुत योगदान था. पहली बार 34 में से 26 सीटें कांग्रेस को मिली. लेकिन 15 महीनों में क्या हुआ, सबने देखा. उन्होंने कहा कि हमारा कुर्सी या पद से मोह नहीं है, लेकिन न्याय, सम्मान और विकास की बात होनी चाहिए. वादाखिलाफी और नाइंसाफी होने पर हम (सिंधिया एवं बागी कांग्रेस विधायक) झंडा लेकर सड़क पर आए. मुख्यमंत्री चौहान की जमकर तारीफ करते हुए सिंधिया ने कहा, ‘‘वह (चौहान) 13 वर्ष तक मुख्यमंत्री रहे. यह आसान काम नहीं है. यह तभी हो सकता है जब जनता दिलों में स्थान दे.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: राज्यसभा में शपथ ग्रहण के दौरान दिग्विजय-सिंधिया का हुआ आमना-सामना



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)