NDTV Khabar

लोकसभा चुनाव 2019 में तीसरा मोर्चा बनाने के लिए के. चंद्रशेखर राव ने स्पेशल एयरक्राफ्ट लिया किराए पर

तीसरा मोर्चा बनाने की कवायद केसीआर ने रविवार से शुरू कर दी है. सबसे पहले उन्होंने विशाखापत्तनम में राजश्यामला मंदिर में पूजा-अर्चना की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लोकसभा चुनाव 2019 में तीसरा मोर्चा बनाने के लिए के. चंद्रशेखर राव ने स्पेशल एयरक्राफ्ट लिया किराए पर

केसीआर ने तेलंगाना विधानसभा चुनाव में जबरदस्त जीत हासिल की है.

नई दिल्ली:

तेलंगाना विधानसभा चुनाव  में एकतरफ़ा जीत के बाद टीआरएस प्रमुख के चंद्रशेखर राव (केसीआर) अब तीसरे मोर्चे की तैयारी में जुट गए हैं. ग़ैर-बीजेपी और ग़ैर-कांग्रेसी मोर्चे की कवायद में उन्होंने ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से मुलाक़ात की. इसी सिलसिले में आज वो पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से भी मिलेंगे. साथ ही कई और विपक्षी नेताओं से भी मिलने की तैयारी है. मिली जानकारी के मुताबिक केसीआर बीएसपी सुप्रीमो मायावती, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात करेंगे. खबरों के मुताबिक इन नेताओं से मुलाकात के लिए उनकी पार्टी तेलंगाना राष्ट्र समिति ने केसीआर के लिए एक महीने के लिए एक स्पेशल एयरक्रॉफ्ट भी किराए में ले लिया है. इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि तेलंगाना में जीत के बाद केसीआर का आत्मविश्वास कितना बढ़ा हुआ है. हालांकि विधानसभा चुनाव के पहले से ही वह तीसरा मोर्चा बनाने के लिए आवाज मुखर कर चुके हैं. 

मध्यप्रदेश में भी तीसरा मोर्चा! कांग्रेस-बीएसपी का साथ मुश्किल


तीसरा मोर्चा बनाने की कवायद केसीआर ने रविवार से शुरू कर दी है. सबसे पहले उन्होंने विशाखापत्तनम में राजश्यामला मंदिर में पूजा-अर्चना की और इसके बाद शारदा पीठ के महंत स्वामी स्वरुपानेंद्र से आशीर्वाद लिया और सीधे भुवनेश्वर के लिए रवाना हो गए. जहां उनकी मुलाकात ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से हुई जो 20 सालों से राज्य के मुख्यमंत्री हैं. नवीन पटनायक ने बीजेपी और कांग्रेस दोनों से दूरी बना रखी है. इस राज्य में बीजेपी नवीन पटनायक के लिए बड़ी चुनौती बनती जा रही है. स्थानीय निकाय चुनाव में बीजेपी ने कांग्रेस को पीछे छोड़ दिया है. मुलाकात के बाद नवीन पटनायक ने केसीआर को जीत पर बधाई दी और किसानों को लेकर उनकी नीतियों की तारीफ की. साथ में उन्होंने यह भी कहा कि राष्ट्रीय मोर्चा  बनाए जाने के लिए उन्होंने कोई वादा नहीं किया है. 

2019 चुनाव के मद्देनजर शरद यादव ने कहा- नहीं बनेगा तीसरा मोर्चा, विपक्ष एकजुट होकर लड़ेगा चुनाव

टिप्पणियां

आपको बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव में नवीन पटनायक बीजेपी का समर्थन कर चुके हैं जबकि उप राष्ट्रपति के चुनाव में वह विपक्ष के साथ चले गए थे हालांकि बीजू जनता दल के विधायकों पर क्रॉस वोटिंग का भी आरोप लगा. इसके बाद राज्यसभा के उप सभापति के चुनाव में भी पीएम मोदी से फोन करने के बाद उन्होंने एनडीए प्रत्याशी को समर्थन किया था. अब के.चंद्रशेखर राव की मुलाकात बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से होनी है. ममता भी तीसरा मोर्च बनाने की वकालत कर चुकी हैं. माना जा रहा है कि तीसरे मोर्चे में शामिल होने के लिए कई नेता तैयार हैं. जिनमें मायावती भी हैं.

तेलंगाना में टीआरएस की बंपर जीत



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... Bigg Boss 13 में फिर भिड़े आसिम रियाज और सिद्धार्थ शुक्ला, एक्टर ने कर दी शो छोड़ने की मांग- देखें Video

Advertisement