कन्हैया कुमार बोले- सावरकर के सपनों का नहीं, भगत सिंह के सपनों का भारत बनाना है

पूर्णिया के इंदिरा गांधी स्टेडियम में CAA और NRC के विरोध में आयोजित जन प्रतिरोध सभा को संबोधित करते हुए कन्हैया ने कहा, "यह लड़ाई एक दिन की नहीं है. यह लड़ाई लंबी चलेगी.' उन्होंने इसके लिए युवाओं के जोश और होश में रहने की जरूरत है. 

कन्हैया कुमार बोले- सावरकर के सपनों का नहीं, भगत सिंह के सपनों का भारत बनाना है

जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार (फाइल फोटो)

खास बातें

  • कन्हैया कुमार ने सीएए के खिलाफ पूर्णिया में हुई रैली को किया संबोधित
  • कहा- भगत सिंह और अंबेडकर के सपनों का भारत बनाना है
  • पूरे देश में सीएए के खिलाफ हो रहे हैं प्रदर्शन
नई दिल्ली:

नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के विरोध में सोमवार को जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कहा कि "हमें सावरकर के सपनों का नहीं, बल्कि भगत सिंह और अंबेडकर के सपनों का भारत बनाना है." उन्होंने एनआरसी के नतीजों से सतर्क रहने की अपीन करते हुए कहा कि यह हिंदू-मुसलमान का मामला नहीं है, बल्कि यह संविधान से जुड़ा मामला है. संविधान को दूषित होने से बचाने का मामला है. पूर्णिया के इंदिरा गांधी स्टेडियम में CAA और NRC के विरोध में आयोजित जन प्रतिरोध सभा को संबोधित करते हुए कन्हैया ने कहा, "यह लड़ाई एक दिन की नहीं है. यह लड़ाई लंबी चलेगी.' उन्होंने इसके लिए युवाओं के जोश और होश में रहने की जरूरत बताते हुए कहा कि इस लड़ाई को मुकाम तक पहुंचाना है. 

CAA के खिलाफ मऊ में हिंसक प्रदर्शन: भीड़ ने की थाना फूंकने की कोशिश, पुलिस ने की हवाई फायरिंग 

CAA और NRC को 'संविधान की आत्मा पर हमला' बताते हुए उन्होंने कहा, 'आज संविधान पर संकट आ खड़ा हुआ है. संविधान को बचाने की जरूरत है. संविधान की मूल भावना है कि किसी भी नागरिक के साथ जाति या धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं होगा, लेकिन इसके ठीक उलटा किया जा रहा है. जिन लोगों को अपने देश के संविधान से प्यार नहीं है, वे ही ऐसे काले कानून का समर्थन कर रहे हैं.'

हमने न फायरिंग की और न ही जामिया के घायल प्रदर्शनकारियों को सफदरजंग में भर्ती कराया: दिल्ली पुलिस

Newsbeep

उन्होंने युवाओं से संयमित और अनुशासित रहने की अपील करते हुए कहा कि इन दोनों चीजों से किसी भी आंदोलन को हर हाल में जीता जाता है. इस रैली में सीमांचल के कई गैर-भाजपा दलों के विधायक और अन्य नेता शामिल हुए. रैली में सीमांचल इलाके के हजारों लोग, खासकर मुसलमान बड़ी संख्या में शामिल हुए. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: रवीश कुमार का प्राइम टाइम : क्या जामिया में दमन पर पुलिस सही बोल रही है?



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)