कन्हैया कुमार ने नागरिकता कानून के खिलाफ भरी 'आजादी-आजादी' की हुंकार, बोले- सरकारी दफ्तरों के बाहर लाइनों में...

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) ने नागरिकता कानून (Citizenship Act) के खिलाफ सोमवार को बिहार के पूर्णिया जिले में प्रदर्शन किया.

कन्हैया कुमार ने नागरिकता कानून के खिलाफ भरी 'आजादी-आजादी' की हुंकार, बोले- सरकारी दफ्तरों के बाहर लाइनों में...

JNU के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar)

खास बातें

  • कन्हैया कुमार ने ट्विटर पर पोस्ट किया वीडियो
  • बिहार के पूर्णिया में लोगों संग लगाई 'आजादी-आजादी' के नारे
  • बोले- सरकारी दफ्तरों के बाहर लाइनों में लगा देना चाहती है सरकार
नई दिल्ली:

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) ने नागरिकता कानून (Citizenship Act) के खिलाफ सोमवार को बिहार के पूर्णिया जिले में प्रदर्शन किया. इसका एक वीडियो भी ट्विटर पर साझा किया है. इस वीडियो के साथ कन्हैया कुमार ने लिखा, ''देश के विद्यार्थियों पर पुलिस के दमन और संविधान एवं ग़रीब विरोधी CAB-NRC के खिलाफ आज पूर्णिया (बिहार) की जनता ने अपनी आवाज बुलन्द की. जनता समझ रही है कि उनके असल सवालों को दबाने के लिए यह सरकार उन्हें नागरिकता सिद्ध करने के लिए सरकारी दफ़्तरों के बाहर लाइनों में लगा देना चाहती है.''

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हो रहे विरोध-प्रदर्शन पर आया अमेरिका का बयान, भारत से की ये अपील

जामिया मिल्लिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia) के छात्रों द्वारा किए जा रहे प्रदर्शन के दौरान हिंसा भड़कने के बाद पुलिस द्वारा हुई बर्बरता पर भी कन्हैया कुमार ने ट्वीट किया है. कन्हैया कुमार ने मंगलवार की सुबह एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा, ''न तो चुप रहिए, न तो हिंसक होइए... छात्र एकता जिंदाबाद''.

सोमवार को कन्हैया कुमार ने एक और ट्वीट किया था कि कल जामिया के विद्यार्थियों पर हुए पुलिस के बर्बर हमले का आज देश के हर कोने में विद्यार्थी विरोध कर रहे हैं. युवाओं की इसी एकजुटता से सरकारें डरती है और अपने लोग भेजकर हिंसा करवाती है. हमें बस यह सुनिश्चित करना है कि हिंसा भी ना हो और प्रतिरोध भी ना रुके. नफरतें हारेंगी, एकता जीतेगी.

क्या है जामिया में हुए बवाल के बाद सबसे ज्यादा वायरल हुए इस वीडियो के पीछे की कहानी?

वहीं रविवार के ट्वीट में कन्हैया ने ट्वीट किया कि फर्जी डिग्री वालों की सरकार ने पिछले 5 साल से देश के विद्यार्थियों के खिलाफ जंग छेड़ी हुई है. लेकिन ये भूल रहे हैं कि भारत के युवाओं की रगों में गांधी, अम्बेडकर, अशफाक और भगत सिंह का ख़ून है. ये लाठियों, गोलियों व झूठे दुष्प्रचार से डरकर अन्याय के खिलाफ आवाज उठाना बंद नहीं करेंगे.

नागरिकता कानून : आज राष्ट्रपति से मिलेगा विपक्ष, शिवसेना ने किया किनारा

Newsbeep

कन्हैया ने रविवार को भी नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था. उन्होंने कुछ तस्वीरें शेयर करते हुए लिखा था कि आज बेगूसराय की जनता ने संविधान के पक्ष में अपनी आवाज़ बुलंद की. CAB-NRC के माध्यम से पूरे देश की गरीब जनता को परेशान करने की साजिश रची जा रही है ताकि किसान आत्महत्या, महंगाई, बेरोजगारी जैसे सवालों से ध्यान भटकाया जा सके. आप भी अपने गांव-शहर में इस काले कानून का शांतिपूर्ण विरोध करिए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video: जामिया के छात्रों पर पुलिस की बर्बरता के खिलाफ देशभर की यूनिवर्सिटीज में प्रदर्शन