NDTV Khabar

नागरिकता बिल पर कन्हैया कुमार ने 'इस' किस्से से किया हमला, बोले- खेल को समझिए, आपके बच्चों को...

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर बुधवार को राज्यसभा से पास हुए नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill) पर सरकार पर जोरदार हमला बोला.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नागरिकता बिल पर कन्हैया कुमार ने 'इस' किस्से से किया हमला, बोले- खेल को समझिए, आपके बच्चों को...

JNU के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar)

खास बातें

  1. कन्हैया कुमार ने किया ट्वीट
  2. एक कहानी के जरिए हमला
  3. नागरिकता बिल पर कही ये बात
नई दिल्ली:

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर बुधवार को राज्यसभा से पास हुए नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill) पर सरकार पर जोरदार हमला बोला. उन्होंने इस बार लोगों को समझाने के लिए एक किस्से का सहारा लिया. कन्हैया ने एक भूखे बच्चे की कहानी को नागरिकता बिल से जोड़ते हुए मोदी सरकार पर तंज कसा है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ''एक बच्चा भूख के मारे रो रहा था और अपने पापा से खाना मांग रहा था. पापा ने उसे अल्मारी के ऊपर बिठा दिया. अब बच्चा भूख भूलकर अल्मारी से नीचे उतरने के लिए रोने लगा. खेल को समझिए. आपके बच्चों को शिक्षा-रोजगार चाहिए. ये लोग आप सबको अपनी नागरिकता सिद्ध करने के जाल में उलझा देना चाहते है.''

JNU विवाद: कन्हैया कुमार ने फेसबुक पोस्ट लिखकर पूछा- फीस बढ़ाना जरूरत या साजिश?


कन्हैया कुमार ने इससे पहले बुधवार सुबह दो ट्वीट कर केंद्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोला था. कन्हैया ने देश के भविष्य की चिंता जताते हुए लिखा कि यह 'राष्ट्रवादी' सरकार पब्लिक सेक्टर को चवन्नी-अठन्नी में बेच देगी. कन्हैया कुमार ने अपने पहले ट्वीट में लिखा था, 'पिछले 5 साल आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक करवाने में निकाल दिए. ये 5 साल 'दादाजी के दादाजी का बर्थ सर्टिफिकेट' बनवाने में निकाल देंगे. इस बीच 'राष्ट्रवादी' सरकार पब्लिक सेक्टर को चवन्नी-अठन्नी में बेचकर ट्रेन टिकट से लेकर कॉलेज की डिग्री तक सब कुछ गरीबों की पहुंच से बाहर कर देगी.' उन्होंने दूसरे ट्वीट में लिखा था, 'देश के सभी लोगों को डॉक्यूमेंट्स के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगाने होंगे. इस तमाशे के दौरान ONGC, BSNL, Air India, Railways सब बिक जाएगा. फिर प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस में 400 रुपए की जगह 4000 रुपए का टिकट खरीदिएगा और 10 लाख में डिग्री लेकर 10 हजार महीने में नौकरी करिएगा.'

तेजस्वी यादव बोले- कन्हैया कुमार और पप्पू मंजूर हैं लेकिन नीतीश कुमार और बीजेपी नहीं

कन्हैया कुमार के इन ट्वीट्स को 'कैब' और 'एनआरसी' से जोड़कर देखा जा रहा है. दरअसल असम में 'एनआरसी' लागू होने के बाद वहां की जनता को अपनी नागरिकता साबित करने के लिए पुराने दस्तावेज दिखाने पड़े थे. इनमें लाखों लोग ऐसे भी थे जो भारतीय होने के बावजूद दस्तावेजों के अभाव में अपना नाम 'एनआरसी' की लिस्ट में दर्ज कराने में नाकाम रहे. बता दें कि मोदी सरकार के नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB) के विरोध में कन्हैया सोमवार को कोलकाता और मंगलवार को पटना पहुंचे थे. कन्हैया ने ट्वीट किया, 'जब संसद निराश करे तो सड़क पर प्रतिरोध की बुलंद आवाज उठनी चाहिए. आज वक्त है कि महात्मा गांधी और मौलाना आज़ाद के सम्मान में, आप और हम उतरें मैदान में.'

टिप्पणियां

VIDEO: कन्हैया कुमार पर देशद्रोह का मामला नहीं बनता- दिल्ली सरकार



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... अमेजन CEO जेफ बेजोस के मोबाइल फोन को सऊदी क्राउन प्रिंस ने किया था हैक, जानें पूरा मामला

Advertisement