NDTV Khabar

कपिल मिश्रा को मिली जान से मारने की धमकी, इंटरनेशनल नंबर से रात में आया फोन

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर 2 करोड़ रिश्वत लेने का आरोप लगाने वाले कपिल मिश्रा को जान से मारने की धमकी मिली है. कपिल मिश्रा को यह धमकी इंटरनेशनल नंबर से मिली है.

652 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कपिल मिश्रा को मिली जान से मारने की धमकी, इंटरनेशनल नंबर से रात में आया फोन

कपिल मिश्रा को मिली जान से मारने की धमकी

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर 2 करोड़ रिश्वत लेने का आरोप लगाने वाले कपिल मिश्रा को जान से मारने की धमकी मिली है. कपिल मिश्रा को यह धमकी इंटरनेशनल नंबर से मिली है. कपिल मिश्रा का कहना है कि कल रात 12.30 बजे +97430783388 नंबर से कॉल और मैसेज करके उन्हें जान से मारने की धमकी दी है. उन्होंने अभी इस संबंध में पुलिस में शिकायत दर्ज नहीं करवाई है. उधर, कपिल मिश्रा आज से भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं.  उन्होंने साफ कहा कि जब तक आम आम पार्टी अपने पांच नेताओं के विदेश दौरों की जानकारी पार्टी सार्वजनिक नहीं करेगी तब तक वह अनशन करेंगे. कपिल मिश्र जिन पांच आम आदमी पार्टी के नेताओं के विदेश दौरों की जानकारी सार्वजनिक करने की मांग कर रहे हैं वे पांच नाम हैं - संजय सिंह, राघव चढ्ढा, आशीष खेतान, अशुतोष और दुर्गे़श पाठक.

टिप्पणियां
सोमवार को कपिल मिश्रा CBI को तीन शिकायतें देकर आए हैं. FIR-1 केजरीवाल के रिश्तेदार की 50 करोड़ की लैंड डील, FIR-2 AAP नेताओं के विदेशी दौरे और FIR-3 केजरीवाल द्वारा 2 करोड़ के नकद लेन-देन की शिकायत. इस मामले पर कपिल मिश्रा ने कुछ और ट्वीट किए हैं. उन्होंने लिखा है कि कुछ नेताओं द्वारा बीसियों विदेश यात्राएं, चंदे के पैसों से सरकारी पैसों से और अवैध कैश से की गई हैं. जानकारी सार्वजनिक की जाए. कहां-कहां गए, कहां रुके, किन लोगों से मिले, क्या डीलिंग हुई. कितने दिनों तक किस देश में रहे. पैसा कहां से आया? पासपोर्ट की डिटेल्स?

कपिल ने सोमवार को अरविंद केजरीवाल को संबोधित करते हुए मी़डिया के सामने एक पत्र भी पढ़ा. उन्होंने अरविंद केजरीवाल को चुनौती दी कि इस्तीफा देकर किसी भी सीट से चुनाव लड़ लें. सीट आप चुनें मैं आपके खिलाफ लड़ने को तैयार हूं. उन्होंने सीबीआई में जाने से पहले कहा कि भ्रष्टाचार के लिए लड़ना और सच के लिए अड़ना आप से ही सीखा है. जिस गुरु से धनुष-बाण सीखा आज उसी पर तीर चलाना है. मन बहुत भारी है. अरविंद केजरीवाल आप जानते हैं कि मैं किस पैसे के लेन-देन की बात कर रहा हूं. उस दिन मैंने एसीबी को खत न लिखा होता तो आप मुझे आनन-फानन में न निकालते. आपके पास धन-बल है और मैं अकेला हूं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement