Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कारगिल के पूर्व योद्धा को NRC लिस्ट में नहीं मिली जगह, विधायक और पूर्व विधायक का नाम भी नहीं

कारगिल युद्ध में भाग लेने वाले और सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी मोहम्मद सनाउल्लाह को इस सूची में जगह नहीं मिली है.

कारगिल के पूर्व योद्धा को NRC लिस्ट में नहीं मिली जगह, विधायक और पूर्व विधायक का नाम भी नहीं

सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी मोहम्मद सनाउल्लाह को इस सूची में जगह नहीं मिली है.

गुवाहाटी:

शनिवार को जारी की गई राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) की अंतिम सूची में जगह नहीं पाने वालों में कारगिल युद्ध में भाग लेने वाले के एक पूर्व सैन्यकर्मी, एआईयूडीएफ के एक वर्तमान विधायक और पूर्व विधायक के नाम भी शामिल हैं. यही हाल कांग्रेस विधायक इलियास अली की बेटी का भी है. अली और उनके परिवार के अन्य सदस्यों के नाम हालांकि, इस अद्यतन एनआरसी सूची में शामिल हैं. कारगिल युद्ध में भाग लेने वाले और सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी मोहम्मद सनाउल्लाह को इस सूची में जगह नहीं मिली है, जिन्हें विदेशी न्यायाधिकरण द्वारा ‘विदेशी' घोषित किए जाने के बाद इस वर्ष मई में कुछ दिनों तक हिरासत में रखा गया था. 

असम सरकार ने कहा, NRC लिस्ट से छूटे भारतीय नागरिकों को कानूनी मदद उपलब्ध कराई जाएगी

सनाउल्लाह की दो बेटियों और एक बेटे को कथित तौर पर शामिल नहीं किया गया है, जबकि उनकी पत्नी का नाम सूची में शामिल है. एनआरसी की यह सूची असम में भारतीय नागरिकों को वैधता प्रदान करता है. एआईयूडीएफ के विधायक अनंत कुमार मालो, जो बोंगईगांव जिले के अभयपुरी दक्षिण विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं, ने कहा कि वह अंतिम एनआरसी सूची में अपना नाम नहीं खोज पाए. विधायक ने कहा, ‘मेरे बेटे का नाम भी एनआरसी की अंतिम सूची में नहीं है.' एआईयूडीएफ के ही पूर्व विधायक अताउर रहमान मजरभुइयां का नाम भी इस सूची में शामिल नहीं है. मजरभुइयां ने कहा, ‘संविधान यह निर्धारित करता है कि कौन भारत का नागरिक है और मेरे पास इसे साबित करने के लिए सभी आवश्यक दस्तावेज हैं. 

बीजेपी नेता हिमंत बिस्वा ने NRC लिस्ट को बताया 'दोषपूर्ण', कहा- लड़ाई अभी खत्म नहीं हुई है

मैं कटिगोरा से दो बार विधायक रह चुका हूं. यह उत्पीड़न है और यह एनआरसी त्रुटिपूर्ण है. ‘पूर्व विधायक ने कहा कि वह कानूनी विकल्प का मदद लेंगे और विदेशी न्यायाधिकरण में जाकर अपना नाम एनआरसी में शामिल करवाएंगे. एनआरसी की अद्यतन अंतिम सूची से 19 लाख से अधिक आवेदकों को बाहर रखा गया है, जिनका भविष्य अब अधर में लटक गया है. यहां एनआरसी के राज्य समन्वयक कार्यालय के एक बयान में कहा गया कि एनआरसी में शामिल होने के लिए कुल 3,30,27,661 लोगों ने आवेदन किया था. उनमें से 3,11,21,004 लोगों को सूची में शामिल किया गया है, जबकि 19,06,657 लोगों का नाम सूची में शामिल नहीं किया गया है.  

वीडियो : असम में NRC लिस्ट हुई जारी, 3.11 करोड़ लोगों के नाम शामिल



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)