पुलिस ने करमापा से पूछे 50 सवाल

खास बातें

  • करमापा ने चीन के साथ किसी तरह के संबंध होने की बात से इनकार करते हुए कहा है कि उनके खिलाफ लगाए गए आरोप निहायत काल्पनिक हैं।
धर्मशाला / शिमला:

तिब्बती आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा का समर्थन हासिल कर चुके करमापा उग्येन त्रिनले दोरजी से पुलिस ने रविवार को पूछताछ की, जबकि उनके द्वारा समर्थित एक ट्रस्ट के कार्यालयों से 7.5 करोड़ रुपये मूल्य की विदेशी मुद्रा जब्त किए जाने के सिलसिले में दो और लोगों को गिरफ्तार किया गया है। करमापा ने चीन के साथ किसी तरह के संबंध होने की बात से इनकार करते हुए कहा है कि उनके खिलाफ लगाए गए आरोप निहायत काल्पनिक और बेबुनियाद हैं। राज्य के पुलिस अधिकारियों की एक टीम ने सिधबारी स्थित गयुतो मठ में करमापा से 50 सवाल पूछे, लेकिन उन्होंने विदेशी मुद्रा और वहां से बरामद दस्तावेजों से पूर्ण अनभिज्ञता जताई। पुलिस ने कहा कि उन्होंने करमापा को धन की बरामदगी और मठ के कामकाज से जुड़े प्रश्न पूछे, लेकिन उन्होंने इस घटनाक्रम से पूरी तरह से खुद को अलग करते हुए कहा कि ट्रस्ट का कामकाज शक्ति लामा और गोम्पु शेरिंग देखते हैं और उनकी भूमिका सिर्फ धार्मिक प्रमुख के रूप में शिक्षा देने की है। पुलिस महानिरीक्षक पीएल ठाकुर ने बताया कि उना के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक केजी कपूर के नेतृत्व में एक टीम ने अंग्रेजी में करमापा से प्रश्न पूछे, जिसका जवाब उन्होंने एक दुभाषिये के जरिये दिया। ठाकुर ने बताया कि जांच कार्य जारी है तथा और अधिक सूचना मिलने के बाद करमापा से दोबारा पूछताछ की जा सकती है। करमापा ने सभी आरोपों का खंडन किया और कहा कि यह धन श्रद्धालुओं ने दान में दिया था, जो समूची दुनिया से आते हैं और ट्रस्ट से जुड़े हैं। ठाकुर ने बताया कि धर्मशाला आधारित व्यवसायी केपी भारद्वाज के आवास और होटल पर छापा मारने के बाद उन्हें और कॉरपोरेशन बैंक के अंबाला शाखा के प्रबंधक डीके धर को शनिवार रात गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने बताया कि इस संबंध में भारद्वाज से पूछताछ के दौरान कुछ सुराग हाथ लगे हैं। उधर, बेंगलुरु में करमापा का समर्थन करते हुए दलाई लामा ने संवाददाताओं से कहा, वह (करमापा) एक महत्वपूर्ण लामा हैं। उन्होंने विदेशी मुद्रा जब्त किए जाने के मामले की गहन जांच की मांग की।  उन्होंने कहा, करमापा के चीन समेत विभिन्न स्थानों से अनेक भक्त हैं...उनसे कुछ धन स्वाभाविक तौर पर मिला होगा...कुछ लापरवाही हुई है। बेहतर होगा कि अब विस्तृत जांच कराई जाए। ठाकुर ने बताया, पुलिस अभी तक धन के स्रोत के बारे में किसी निष्कर्ष तक नहीं पहुंच पाई है और करमापा के कंप्यूटर सहित सभी दस्तावेजों की गहन जांच की जा रही है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com