कर्नाटक के मंत्री ने महिला को कहे आपत्तिजनक शब्‍द तो CM येदियुरप्‍पा ने लगाई फटकार, दी चेतावनी..

मधुस्वामी को स्थानीय समाचार चैनलों द्वारा प्रसारित एक क्लिप में कोलार की कर्नाटक किसान संघ की जिला अध्यक्ष के खिलाफ अपशब्‍दों का इस्‍तेमाल करते सुना गया था. महिला एक झील से अतिक्रमण हटाने के लिए ज्ञापन सौंपने के लिए मंत्री से मिलने गई थी. मधुस्‍वामी के पास जल संसाधन विभाग के अंतर्गत लघु सिंचाई मामलों का प्रभार भी है.

कर्नाटक के मंत्री ने महिला को कहे आपत्तिजनक शब्‍द तो CM येदियुरप्‍पा ने लगाई फटकार, दी चेतावनी..

सीएम येदियुरप्‍पा ने खराब व्‍यवहार के लिए मंत्री मधुस्‍वामी को फटकार लगाई है

बेंगलुरू:

कर्नाटक (Karnataka )के कानून मंत्री जेसी मधुस्वामी (JC Madhuswamy ) द्वारा एक स्थानीय महिला नेता के खिलाफ आपत्तिजनक शब्‍द कहने का वीडियो वायरल होने के एक दिन बाद इस मामले में राज्‍य के सीएम बीएस येदियुरप्‍पा (BS Yediyurappa) की तीखी प्रतिक्रिया सामने आई है. मुख्यमंत्री ने अपने वरिष्ठ कैबिनेट सहयोगी को इस तरह के आपत्तिजनक व्‍यवहार पर फटकार लगाई है और कहा कि ऐसा व्‍यवहार मंत्री को शोभा नहीं देता. इस बीच, मामले में मधुस्वामी ने अपनी ओर से माफी मांगी है और कहा है कि उन्होंने इस महिला के "बुरे व्यवहार" पर प्रतिक्रिया दी है.

गौरतलब है कि बुधवार को मधुस्वामी को स्थानीय समाचार चैनलों द्वारा प्रसारित एक क्लिप में कोलार की कर्नाटक किसान संघ की जिला अध्यक्ष नलिनी के खिलाफ अपशब्‍दों का इस्‍तेमाल करते सुना गया था. महिला एक झील से अतिक्रमण हटाने के लिए ज्ञापन सौंपने के लिए मंत्री से मिलने गई थी. मधुस्‍वामी के पास जल संसाधन विभाग के अंतर्गत लघु सिंचाई मामलों का प्रभार भी है. वीडियो में, मधुस्वामी को साफ तौर पर अपशब्‍दों का इस्‍तेमाल करते हुए सुना जा सकता है. इस दौरान मंत्रीजी यह भी कहते हैं कि वह बहुत बुरे आदमी हैं और उसे (महिला) को अपनी शिकायत सामने रखना चाहिए न कि आदेश देना चाहिए. जब नलिनी ने मंत्री के व्यवहार पर सवाल उठाया, तो ड्यूटी पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसे बाहर जाने को कहा. यह घटना तब हुई जब मंत्री मधुस्‍वामी बेंगलुरू से 65 किमी दूर कोलार में एक परियोजना का निरीक्षण कर रहे थे.

सीएम येदियुरप्‍पा ने इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया में कहा, "उन्‍होंने (मंत्री ने) जो किया वह गलत था. मैंने चेतावनी दी है. महिलाओं के खिलाफ अपमानजनक भाषा का प्रयोग करना अक्षम्य है. ऐसा व्‍यवहार मंत्री को शोभा नहीं देता. मुझे अखबार के जरिये इस बारे में पता चला. मैं संबंधित महिला से बात करूंगा. अगर आप भविष्य में होने वाली घटनाएं, मैं कड़ी कार्रवाई करूंगा." हालांकि, संबंधित मंत्री मधुस्वामी ने इस घटना को लेकर खेद जताया है. उन्‍होंने संवाददाताओं से कहा कि अगर उन्होंने किसी महिला की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है तो वह माफी मांगेंगे. जब एक व्यक्ति ने हदें पार करते हुए बात की तो मैंने ऐसी प्रतिक्रिया दी. यदि मेरे शब्द गलत है, तो मैं माफी माँगता हूं. वैसे जिस तरह से उसने व्यवहार किया वह बहुत बुरा था. मुझे भी ऐसे शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए था." इस बीच मंत्री मधुस्‍वामी के व्यवहार की राज्‍य के विपक्षी दलों भी आलोचना की और उन्‍हें मंत्रिमंडल से हटाने की मांग की है. नेता प्रतिपक्ष सिद्धारमैया ने कहा कि सीएम येदियुरप्पा को मंत्री को महिला से माफी मांगने के लिए कहना चाहिए और उन्हें मंत्रालय से हटा देना चाहिए.

VIDEO: 25 मई से शुरू हो रहीं घरेलू हवाई सेवाएं, यह है गाइडलाइन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com