NDTV Khabar

कर्नाटक : लोग दाने-दाने को तरसते रहे, राहत के लिए आई खाद्य सामग्री सड़ती रही

कर्नाटक में हाल में हुई बारिश और बाढ़ की वजह से तकरीबन 80 लोगों की जानें गईं, हजारों बेघर और जरूरतरमंद लोगों को राहत नहीं मिली

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्नाटक : लोग दाने-दाने को तरसते रहे, राहत के लिए आई खाद्य सामग्री सड़ती रही

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. रायचूर जिले के एक ब्लॉक में खाद्य सामग्री सड़ती रही
  2. रायचूर के यरगोडी यलगुंडी और हंचीनाला में खाने को कुछ नहीं था
  3. कई गोदामों में राहत सामग्री पड़ी है, पूछने वाला कोई नहीं
बेंगलुरु:

उत्तर कर्नाटक में एक बार फिर बारिश शुरू हो गई है. हाल में हुई बारिश और बाढ़ की वजह से तकरीबन 80 लोगों की जानें गई थीं और हजारों लोग बेघर हुए थे. प्रभावित इलाकों में से एक रायचूर के कुछ वीडियो सामने आए हैं जिससे पता चलता है कि एक तरफ जहां लाखों लोग दाने-दाने के लिए तरस रहे थे वहीं राहत सामग्री सरकारी दफ्तरों में सड़ती रही.

रायचूर जिले के एक ब्लॉक के तहसीलदार के दफ़्तर में खाद्य सामग्री सड़ती रही. वह ज़रूरतमंदों तक नहीं पहुंचाई गई. रायचूर के यरगोडी यलगुंडी और हंचीनाला जैसे गांवों में लोगों के पास खाने-पीने को कुछ भी नहीं था.

कन्नडा समर्थक कार्यकर्ता हनुमंत नायक ने कहा कि 'देखिए किस तरह अधिकारियों की वजह से राहत के नाम पर आया खाने-पीने का सामान बरबाद हो रहा है और इसे कोई बांटने वाला नहीं है.'

बताया जा रहा है कि अब भी कई गोदामों में राहत सामग्री पड़ी है, पूछने वाला कोई नहीं है. अधिकारियों के मुताबिक 80 फीसदी राहत का सामान बांट दिया गया है. जो बचा है वह जल्द ही जरूरतमंदों को दिया जाएगा. लेकिन सवाल यह उठता है कि क्या वह अब बांटे जाने के लायक है?


कर्नाटक सहित देश के कई राज्यों में बाढ़ का कहर, जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित, 250 से ज्यादा की मौत

असिस्टेंट तहसीलदार शमसे आलम ने कहा कि 'बचा हुआ मटेरियल जल्द ही बांट दिया जाएगा. अगर किसी की कोताही हुई तो हम डीसी से कहकर कार्रवाई करवाएंगे.'

जान की परवाह किए बिना बाढ़ में एंबुलेंस को रास्ता दिखाता रहा 12 साल का बच्चा, वायरल हुआ VIDEO

हाल में आई बाढ़ से हुई तबाही की वजह से लोग पहले से ही परेशान थे, दुबारा इन इलाकों में बारिश शुरू हो गई. ऐसे में इन लोगों की परेशानी और बढ़ गई.

टिप्पणियां

VIDEO : बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित दक्षिण भारत



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement