NDTV Khabar

कर्नाटक : मैसूर क्षेत्र के एक गांव में तीन तेंदुओं की रहस्यमय मौत

मैसूर इलाके में हल्लारे गांव के समीप मादा तेंदुआ और उसके दो शावकों के शव मिले, न तो शवों पर चोट के निशान, न ही संघर्ष के निशान

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्नाटक : मैसूर क्षेत्र के एक गांव में तीन तेंदुओं की रहस्यमय मौत

मैसूर क्षेत्र के एक गांव के समीप तीन तेंदुओं की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत हो गई.

खास बातें

  1. चार साल की मादा तेंदुआ और उसके चार माह के नर और मादा शावक मरे
  2. विस्तृत पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद होगा मौत के कारणों का खुलासा
  3. मैसूर क्षेत्र के इस ग्रामीण इलाके में वन्य जीवों का विचरण आम बात
बेंगलुरु:

मैसूर के ननजुंगोडु के हल्लारे गांव के समीप एक मादा तेंदुआ और उसके दो शावक मरे हुए मिले. कर्नाटक के वन विभाग के डॉक्टर नागराज ने बताया कि 'मृत तेंदुओं के शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं मिले. इसके अलावा जहां उनके शव मिले उस स्थान पर संघर्ष के भी कोई  निशान नहीं मिले.' डॉ नागराज ने सबसे पहले तेंदुओं के शवों को देखा और उनका पोस्ट मार्टम कराया. चार साल की मादा तेंदुआ और उसके चार माह के नर और मादा शावकों की मौत कैसे हुई, यह एक रहस्य बना हुआ है. क्या यह मानव और वन्य जीव के बीच संघर्ष का परिणाम है? क्या इन वन्य प्राणियों की मौत जहर के कारण हुई? आशंकाएं कई हैं.

मौत के कारणों का खुलासा विस्तृत पोस्ट मार्टम रिपोर्ट से ही हो सकेगा जो कि इस सप्ताहांत में आएगी.  

i5ijlgq8

मैसूर क्षेत्र के इस ग्रामीण इलाके में वन्य जीवों का विचरण आम बात है. यहां हाथी, जंगली भैंसा और हिरण तो अक्सर देखे जाते हैं लेकिन तेंदुए बहुत कम दिखाई देते हैं. जहरीले सांप भी इस इलाके में बहुतायत से पाए जाते हैं.

बच्चे को उठाकर ले जा रहा था तेंदुआ, मां ने बचाने के लिए दांव पर लगाई खुद की जान, बच्चे की पकड़ी टांग और...

jbicmtdc

तेंदुओं के शव सोमवार को दोपहर के बाद देखे गए हालांकि तेंदुओं की मौत एक दिन पहले, यानी रविवार को हुई थी. फिलहाल वन विभाग के अधिकारियों ने तेंदुओं की असामान्य मौत का मामला दर्ज किया है.

उत्तराखंड : श्रीनगर के मेडिकल कॉलेज में घुसा तेंदुआ, दो व्यक्तियों को किया घायल

a1arrvpo

गौरतलब है कि हाल ही में मध्यप्रदेश के इंदौर में स्पेशल टास्क फोर्स ने दुर्लभ तेंदुए किंग लेपर्ड की खाल के साथ जानवरों की खाल की तस्करी करने वाले गिरोह को गिरफ्तार किया था. मध्य प्रदेश एसटीएफ एडीजी अशोक अवस्थी ने बताया कि इंदौर यूनिट को मुखबिर के जरिए पता लगा था कि चंदन नगर इलाके में लेपर्ड की खाल बेचने के लिए कुछ लोग घूम रहे हैं जिसके बाद एसटीएफ की टीम ने मौके पर पहुंचकर तस्करी करने वाले मुख्य आरोपी गफ्फार और उसके साथी को किंग लेपर्ड की खाल के साथ रंगे हाथों गिरफ्तार किया.

दुर्लभ तेंदुए किंग लेपर्ड की खाल बरामद, तस्करी करने वाला गिरोह पकड़ा

VIDEO : उत्तराखंड में सड़क पर घूमता दिखा हिम तेंदुआ

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement