9 घंटे की मूसलाधार बारिश से कर्नाटक बेहाल, पानी में फंसे स्कूली बच्चों को बोट के सहारे निकाला गया, रेड अलर्ट जारी

कर्नाटक के मंगलोर और उडुपी में मंगलवार जमकर बारिश हुई. मंगलोर में 9 घंटे तक हुई मूसलाधर बारिश के चलते घुटनों तक पानी भर गया.

9 घंटे की मूसलाधार बारिश से कर्नाटक बेहाल, पानी में फंसे स्कूली बच्चों को बोट के सहारे निकाला गया, रेड अलर्ट जारी

पानी में फंसे बच्चों को निकालती आपदा प्रबंधन की टीम

खास बातें

  • कर्नाटक में आज भी भारी बारिश की संभावना.
  • मूसलाधार बारिश से जनजीवन प्रभावित.
  • पीएम मोदी ने सुरक्षा का भरोसा दिया.
बेंगलुरु:

कर्नाटक के तटीय इलाके में मौसम का मिजाज बिगड़ चुका है. कर्नाटक के मंगलोर और उडुपी में मंगलवार जमकर बारिश हुई. मंगलोर में 9 घंटे तक हुई मूसलाधर बारिश के चलते घुटनों तक पानी भर गया. लोगों और गाड़ियों को सड़कों पर निकलने में काफ़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. मंगलोर में पानी में फंसे स्कूली बच्चों को बोट के सहारे किसी तरह निकाला गया. हालांकि, बुधवार को मंगलोर में सभी स्कूल बंद रहेंगे. वहीं, दक्षिण कन्नड़ और उदुपी के तटीय जिलों में लगातार तीसरे दिन मूसलाधार बारिश जारी रही, जिससे निचले इलाके और सड़कें डूब गईं और सामान्य जनजीवन प्रभावित हो गया. केरल में मंगलवार को मानसून के पहुंचने साथ ही केरल के समुद्री इलाकों और कर्नाटक के मैंगलोर में भारी बारिश हुई. कर्नाटक में भारी बारिश की संभावना को देखते हुए स्कूल, कॉलेज और अन्य शैक्षणिक संस्थान और बाजार बंद रहे. जिन इलाकों में भारी बारिश देखी गई वहां कई पेड़ जड़ से उखड़ गए और बाढ़ जैसे हालात हो गए.
 

mangaluru mangalore rain

कर्नाटक के कुछ हिस्सों में भारी बारिश के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अधिकारियों से बात की और उनसे यह सुनिश्चित करने को कहा कि प्रभावित क्षेत्रों में सभी तरह की संभावित मदद पहुंच सके. बताया जा रहा है कि कर्नाटक में मेकुनु चक्रवात समुद्री जिलों तक पहुंच गया है. इसी के बीच नेशनल डिजाजस्टर मैनेंजमेंट अथॉरिटी ने कर्नाटक में रेड अलर्ट जारी कर दिया है.  इसके तहत कर्नाटक के सुदूर पूर्व के इलाकों खासकर समुद्री इलाकों के लिए भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है.
 
mangaluru mangalore rain

पीएएम नरेंद्र मोदी ने इस संबंध में ट्वीट कर कहा, 'कर्नाटक के अलग-अलग हिस्सों में बारिश से प्रभावित होने वाले सभी लोगों की सुरक्षा और बेहतरी की कामना करता हूं. अधिकारियों से बात की है और उनसे प्रभावित इलाकों में हर मुमकिन मदद पहुंचाने को सुनिश्चित करने को कहा है.' वहीं, गृह मंत्रालय ने कहा कि उसने मंगलोर में स्थिति की समीक्षा की है और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की कुछ अतिरिक्त टीमों को राहत और बचाव कार्य में स्थानीय प्रशासन की मदद करने के लिए भेजा है.
 
mangaluru mangalore rain

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश, झारखंड और बिहार के अलग-अलग इलाकों में तूफ़ान और बिजली गिरने से मरने वालों की संख्या 40 तक पहुंच गई है. इनमें से 19 की मौत बिहार में, 12 की झारखंड में और 9 की उत्तर प्रदेश में हुई है. इस बीच मौसम विभाग ने मध्य और पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में अगले 24 घंटों के दौरान धूल भरी आंधी चलने की चेतावनी जारी की है.

VIDEO:बारिश से किसान का अनाज बर्बाद

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com