करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास पर सिद्धू बोले- मेरे यार, दिलदार इमरान खान का शुक्रिया

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब को भारत के गुरदासपुर जिले में स्थित डेरा बाबा नानक गुरुद्वारा से जोड़ने वाले बहुप्रतीक्षित गलियारे की आधारशिला रखी.

करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास पर सिद्धू बोले- मेरे यार, दिलदार इमरान खान का शुक्रिया

करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास कार्यक्रम में इमरान खान, हरसिमरत कौर, हरदीप सिंह पुरी, नवजोत सिंह सिद्धू

नई दिल्ली:

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब को भारत के गुरदासपुर जिले में स्थित डेरा बाबा नानक गुरुद्वारा से जोड़ने वाले बहुप्रतीक्षित गलियारे की आधारशिला रखी. भारत की ओर गलियारे के लिए सोमवार को उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने आधारशिला रखी थी. इस दौरान भारत की ओर से केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, हरसिमरत कौर और नवजोत सिंह सिद्धू मौजूद थे. पाकिस्तान में होने वाले समारोह के लिए नवजोत सिंह सिद्धू मंगलवार को ही यहां पहुंच चुके थे. भारत सरकार ने कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल और हरदीप सिंह पुरी को भेजा है. इस मौके पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि भारत-पाकिस्तान दोनों तरफ से गलतियां हुईं हैं. जब फ्रांस और जर्मनी साथ हैं फिर हम क्यों नहीं? उन्होंने कहा कि क्या हम अपना एक मसला हल नहीं कर सकते? कोई ऐसी चीज नहीं जो हल नहीं हो सकती. इरादे बड़े होने चाहिए. ख्वाब बड़े होने चाहिए. उन्होंने कहा कि हम भारत के साथ सभ्य संबंध चाहते हैं. इस मौके पर नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर के लिए मेरे याद, दिलदार इमरान खान का शुक्रिया.
 

kartarpur corridor event Live updates:


-  पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि मुसलमानों को मदीना जाने में जो खुशी मिलती है वह खुशी हिंदुस्‍तान से आए हमारे भाईयों को चेहरे पर देख रहे हैं. पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि हिंदुस्‍तान एक कदम बढ़ाएगा हम दो कदम बढाएंगे.

 - इमरान खान ने कहा कि भारत-पाकिस्तान दोनों तरफ से गलतियां हुईं हैं. जब फ्रांस और जर्मनी साथ हैं फिर हम क्यों नहीं?  उन्होंने कहा कि क्या हम अपना एक मसला हल नहीं कर सकते? कोई ऐसी चीज नहीं जो हल नहीं हो सकती. इरादा बड़ा होना चाहिए. ख्वाब बड़े होने चाहिए.

-  हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि हमारी पार्टी पिछले 7 महीने से इस कॉरिडोर की तैयारी कर रही थी. ये बाबा नानक का
चमत्कार है. उन्होंने कहा कि दोनों देशों की कड़वाहट मिटाने के लिए इस कॉरिडोर का निर्माण किया जा रहा है. यह कॉरिडोर हर एक को जोड़ेगा.

-​नवजोत सिंह सिद्धू ने करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास के लिए पाकिस्तानी पीएम इमरान खान को धन्यवाद दिया और कहा कि इमरान खान ने 70 साल का इंतजार खत्म किया है. सिद्धू ने दोनों देशों के बीच खून-खराबा बंद करने की अपील की. हमें अपने सोच को बदलने की जरूरत है. 

- नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि दोनों सरकार बधाई के पात्र हैं. 

माना जाता है कि करतारपुर में ही सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव जी ने अंतिम सांस ली थी. करतारपुर साहिब पाकिस्तान में रावी नदी के पार स्थित है और डेरा बाबा नानक से करीब चार किलोमीटर दूर है. सिख गुरु ने 1522 में इस गुरुद्वारे की स्थापना की थी. करतारपुर गलियारे से भारतीय सिख श्रद्धालु करतारपुर में स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब तक वीजा रहित यात्रा कर सकेंगे. इस गलियारे के छह महीने के भीतर बनकर तैयार होने की उम्मीद है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मुहम्मद फैसल ने करतारपुर के लिए रवाना होने से पहले बुधवार को इस्लामाबाद में मीडिया को कहा कि करतारपुर सीमा का खुलना अल्पसंख्यकों के कल्याण की दिशा में एक ऐतिहासिक कदम है. 

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि दि्वपक्षीय बातचीत और करतारपुर कॉरिडोर दोनों अलग-अलग हैं. भारत सरकार पिछले 20 साल से इस कॉरिडोर के बारे में पाकिस्तान से बातचीत कर रही है. पाकिस्तान ने पहली बार सकारात्मक जवाब दिया है. लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि दि्वपक्षीय बातचीत शुरू हो जाएगी. हम हमेशा कहते आ रहे है कि आतंकी और बातचीत साथ नहीं चल सकतीं. पाकिस्तान को पहले आतंकी गतिविधियों को रोकने होगा, उसके बाद बातचीत शुरू होगी.'