NDTV Khabar

अमरिंदर सिंह ने करतारपुर कॉरिडोर को ISI और पाकिस्तानी सेना की साजिश बताया, सिद्धू के लिए कही यह बात...

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने करतारपुर गलियारे (Kartarpur corridor) को पाकिस्तानी सेना और आईएसआई (ISI) की साजिश करार दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अमरिंदर सिंह ने करतारपुर कॉरिडोर को ISI और पाकिस्तानी सेना की साजिश बताया, सिद्धू के लिए कही यह बात...

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह. (फाइल फोटो)

चंडीगढ़:

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने करतारपुर गलियारे (Kartarpur corridor) को पाकिस्तानी सेना की साजिश करार दिया. अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने दावा किया कि पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा (General Qamar Javed Bajwa) ने इमरान खान (Imran Khan) के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेने से पहले ही नवजोत सिंह सिद्धू के समक्ष करतारपुर गलियारा खोले जाने की खबरों का खुलासा कर दिया था. अमरिंदर ने इस पूरे मामले को पाकिस्तानी सेना द्वारा रची गई एक 'बड़ी साजिश' करार दिया. मुख्यमंत्री ने कहा, 'करतारपुर गलियारा स्पष्ट रूप से आईएसआई का एक गेम प्लान है.' उन्होंने कहा कि यह पाकिस्तान द्वारा भारत के खिलाफ रची गई एक बड़ी साजिश नजर आती है.

यह भी पढ़ें: कैप्टन अमरिंदर सिंह बोले, सिद्धू से कोई टकराव नहीं, लेकिन उनके साथ सिर्फ एक दिक्कत है...


मुख्यमंत्री के हवाले से एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार उन्होंने स्वीकार किया कि पाकिस्तान पंजाब में आतंकवाद को पुनर्जीवित करने का प्रयास कर रहा है और इसलिए हम सभी को उसकी पहल से सावधान रहना चाहिए. सिद्धू के मामले पर उन्होंने कहा कि इसे जरूरत से ज्यादा तूल दिया गया और जो इस मुद्दे को उठा रहे हैं वे यह साबित करने में असफल रहे कि यह आईएसआई का गेम प्लान है. मुख्यमंत्री ने सिद्धू के साथ अपने रिश्तों को ले कर अवांछित विवाद खड़ा करने पर अकाली दल और भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व पर हमला किया.

यह भी पढ़ें: पंजाब कांग्रेस में शुरू हुई 'जंग' : 'अगर वह (सिद्धू) कैप्टन साहब को अपना कैप्टन नहीं मानते तो इस्तीफा दे दें'

अमरिंदर ने कहा कि करतारपुर साहिब गलियारा खोले जाने की मांग विभाजन के बाद से लंबित थी, क्योंकि पवित्र सिख धार्मिक स्थल (श्री ननकाना साहिब, श्री पंजा साहिब, डेरा साहिब और करतारपुर साहिब) पाकिस्तान में रह गये थे. पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और डॉ. मनमोहन सिंह ने करतारपुर गलियारा खोले जाने के मुद्दे को पाकिस्तान के समक्ष उठाया था. उन्होंने कहा कि उन्होंने खुद भी मुख्यमंत्री के रूप में अपने पिछले कार्यकाल के दौरान पाकिस्तानी पंजाब के तत्कालीन अपने समकक्ष परवेज इलाही और उस समय पाकिस्तान के राष्ट्रपति रहे परवेज मुशर्रफ के समक्ष इस मुद्दे को उठाया था.

यह भी पढ़ें: नवजोत सिंह सिद्धू ने बताई वजह, आखिर क्यों कैप्टन अमरिंदर सिंह की बात को दरकिनार कर गए पाकिस्तान

करतारपुर साहिब गलियारे के आधारशिला कार्यक्रम के लिए पाकिस्तान नहीं जाने के फैसले पर उन्होंने कहा कि उन्होंने जाने से इनकार कर दिया क्योंकि वह ऐसे समय में वहां जाने के बारे में नहीं सोच सकते थे जब पाकिस्तानी सेना द्वारा भारतीय सैनिकों और नागरिकों को मारा जा रहा है. सिद्धू के उस बयान के बारे में, जिसमें उन्होंने कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी उनके कैप्टन हैं, मुख्यमंत्री ने कहा कि यह मुद्दा शायद ही उठाये जाने लायक था, क्योंकि सिद्धू ने हमेशा उन्हें (अमरिंदर) पिता की तरह माना है.

VIDEO: क्या करतारपुर कॉरिडोर रिश्तों की नई डोर? 

टिप्पणियां

अमरिंदर ने पाकिस्तान को उसके नापाक इरादों के बारे में चेताया. उन्होंने पाकिस्तान से पंजाब की स्थिति बिगाड़ने के प्रयास से बचने का आग्रह किया. 

(इनपुट: भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement