NDTV Khabar

आईसीसी चैम्पियन्स ट्रॉफी 2017 में पाकिस्तान की जीत पर कश्मीर में मनी दीवाली

श्रीनगर, अनंतनाग, पुलवामा, कुलगाम और शोपियां जैसी बहुत-सी जगहों पर स्थानीय निवासियों ने गलियों में आकर पटाखे फोड़े, और आतिशबाज़ी की. यही नहीं, पाकिस्तान की जीत की खुशी में श्रीनगर, शोपियां और पुलवामा में तो सीआरपीएफ के कैम्प पर पत्थर भी फेंके गए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आईसीसी चैम्पियन्स ट्रॉफी 2017 में पाकिस्तान की जीत पर कश्मीर में मनी दीवाली

पाक सेना के मेजर जनरल आसिफ गफूर ने अपने फौजियों की कुछ तस्वीरें ट्विटर पर अपलोड की हैं...

खास बातें

  1. श्रीनगर, अनंतनाग, पुलवामा और शोपियां में स्थानीय निवासियों ने पटाखे फोड़े
  2. शोपियां, श्रीनगर और पुलवामा में सीआरपीएफ कैम्प पर पत्थर भी फेंके गए
  3. पाक सेना ने भी अपनी क्रिकेट टीम की भारत पर जीत का जश्न मनाया
नई दिल्ली: रविवार की रात को आईसीसी चैम्पियन्स ट्रॉफी क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल मैच में भारत को पाकिस्तान के हाथों मिली हार के बाद कश्मीर में कई जगहों पर दीवाली मनाए जाने की ख़बर है.

मिली जानकारी के मुताबिक, श्रीनगर, अनंतनाग, पुलवामा, कुलगाम और शोपियां जैसी बहुत-सी जगहों पर स्थानीय निवासियों ने गलियों में आकर पटाखे फोड़े, और आतिशबाज़ी की. यही नहीं, पाकिस्तान की जीत की खुशी में श्रीनगर, शोपियां और पुलवामा में तो केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के कैम्प पर पत्थर भी फेंके गए. ख़बर है कि कुछ जगहों पर पेट्रोल पार्टी पर भी पत्थर फेंके गए, लेकिन बलों ने कोई जवाबी कार्रवाई नहीं की, क्योंकि उन्हें यह घटना गंभीर नहीं लगी. तसल्ली की बात यह है कि इन घटनाओं में कोई भी हताहत नहीं हुआ है.

इस बीच, कई इलाकों में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर अपने ही इलाके में हवा में गोलियां चलाकर पाकिस्तानी सेना ने भी अपनी क्रिकेट टीम की भारत पर जीत का जश्न मनाया. माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर पर पाक सेना के मेजर जनरल आसिफ गफूर ने अपने फौजियों की कुछ तस्वीरें अपलोड करने के साथ-साथ एक वीडियो भी अपलोड किया है, और दावा किया है कि वह जम्मू एवं कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में शूट किया गया है.
 
इसके बाद, सोमवार सुबह से घाटी में शांति बनी हुई है, और कोई बड़ी घटना नहीं हुई है. वैसे, सुरक्षाबल आशंकित ज़रूर हैं और उन्होंने हर तरह के हालात से निपटने की तैयारी कर रखी है. वैसे, इस तरह की घटनाएं घाटी में लगभग 10 साल पहले आमतौर पर हुआ करती थीं, जब पाकिस्तान की क्रिकेट में जीत पर इस तरह की प्रतिक्रिया अक्सर हुआ करती थी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement