इस राज्य के प्राइवेट अस्पतालों और लैब्स में तय हुआ COVID-19 की जांच और इलाज का शुल्क

तेलंगाना सरकार ने प्राइवेट लैब्स में कोविड-19 (COVID-19) की जांच के लिए 2,200 रुपये और निजी अस्पतालों में इलाज के लिए प्रतिदिन 4,000 रुपये का शुल्क तय किया.

इस राज्य के प्राइवेट अस्पतालों और लैब्स में तय हुआ COVID-19 की जांच और इलाज का शुल्क

प्रतीकात्मक.

हैदराबाद:

तेलंगाना सरकार ने प्राइवेट लैब्स में कोविड-19 (COVID-19) की जांच के लिए 2,200 रुपये और निजी अस्पतालों में इलाज के लिए प्रतिदिन 4,000 रुपये का शुल्क तय किया. मुख्यमंत्री के चंद्रेशखर राव (KCR) ने मुख्य सचिव और अन्य अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की और रविवार को कुछ अहम फैसलों की घोषणा की. इनमें से एक उन निजी प्रयोगशालाओं को जांच की मंजूरी देना है, जिन्होंने कोविड-19 जांच की अनुमति मांगी थी. स्वास्थ्य मंत्री ई राजेंद्र ने बताया कि जांच के लिए 2,200 रुपये का शुल्क तय किया गया है. वहीं, आईसीयू में बिना वेंटिलेटर के मरीज के इलाज का एक दिन का शुल्क 7,500 रुपये तय किया गया है. वहीं, वेंटिलेटर के साथ प्रतिदिन का शुल्क 9,000 रुपये होगा.

उन्होंने कहा कि कुछ वायरस रोधी इंजेक्शन की कीमत 40,000 से 50,000 रुपये है, इसलिए इस तरह के इलाज के लिए अलग से शुल्क लिया जा सकता है. उन्होंने कहा कि सरकार निजी प्रयोगशालाओं को यह संदेश देना चाहती है कि वह उन लोगों की जांच करने पर विचार न करें जिनमें कोई लक्षण नहीं दिख रहे हों. उन्होंने कहा कि जांच और निजी अस्पतालों में इलाज करा रहे लोगों की जानकारी अस्पतालों को राज्य सरकार को देनी होगी, क्योंकि संपर्क की तलाश समेत अन्य एहतियाती कदमों के लिये उनकी आवश्यकता होगी.

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने जरूरत पड़ने पर अस्थायी आधार पर स्वास्थ्यकर्मियों की भर्ती करने की भी मंजूरी दे दी. अगर जरूरत पड़ी तो हैदराबाद में प्रत्येक घर में इंफ्लुएंजा जैसी बीमारी (आईएलआई), श्वसन संबंधी दिक्कत, निमोनिया और अन्य का पता लगाने के लिए सर्वेक्षण किया जाएगा. उन्होंने बताया कि तेलंगाना प्रतिदिन 7,500 जांच करने की स्थिति में है.
उन्होंने कहा कि लोगों को सरकारी स्वास्थ्य सेवा का इस्तेमाल करना चाहिए और जो लोग निजी अस्पतालों में इलाज का खर्च वहन कर सकते हैं, वे वहां जा सकते हैं.

राजेंद्र ने कहा कि राज्य सरकार को उन कुछ लोगों के आग्रह मिले हैं, जो इलाज के लिए निजी क्षेत्र का चयन करना चाहते हैं. वहीं, हैदराबाद और उसके आसपास के इलाकों में 50,000 प्रस्तावित जांच के संबंध में उन्होंने कहा कि आने वाले सप्ताह से 10 दिन तक 50,000 जांच मुफ्त में की जाएगी. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) को उद्धृत करते हुए उन्होंने कहा कि तेलंगाना में अभी सामुदायिक स्तर पर संक्रमण नहीं हुआ है. मुख्य सचिव सोमेश कुमार ने कहा कि वायरस से डरने की जरूरत नहीं है, क्योंकि हैदराबाद बाकी शहरों और राज्यों के मुकाबले अभी बेहतर स्थिति में है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com