NDTV Khabar

मंजूरी नहीं मिलने के बावजूद डेनमार्क में सी 40 जलवायु सम्मेलन में मौजूदगी दर्ज कराएंगे केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शुक्रवार को सी 40 समिट को संबोधित करेंगे, सात शहरों के संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में भी हिस्सा लेंगे

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मंजूरी नहीं मिलने के बावजूद डेनमार्क में सी 40 जलवायु सम्मेलन में मौजूदगी दर्ज कराएंगे केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल डेनमार्क के कोपेनहेगन में हो रहे जलवायु सम्मेलन को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करेंगे.

खास बातें

  1. विदेश मंत्रालय ने सम्मेलन के लिए पॉलिटिकल क्लियरेंस खारिज कर दिया था
  2. आयोजकों का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से संबोधित करने का अनुरोध स्वीकारा
  3. केजरीवाल संभवत: दिल्ली में प्रदूषण कम करने के अनुभवों को साझा करेंगे
नई दिल्ली:

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) को डेनमार्क के कोपेनहेगन में होने वाले सी-40 जलवायु सम्मेलन (C-40 Climate Change Event) में शामिल होने के लिए भले ही विदेश मंत्रालय ने मंजूरी नहीं दी लेकिन इसके बावजूद वे वहां अपनी उपस्तिथि दर्ज कराएंगे. अरविंद केजरीवाल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शुक्रवार को सी 40 समिट को संबोधित करेंगे. केजरीवाल इसी दिन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ही सात शहरों के संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में भी हिस्सा लेंगे. विदेश मंत्रालय ने अरविंद केजरीवाल का डेनमार्क में होने वाले C-40 सम्मेलन के लिए पॉलिटिकल क्लियरेंस खारिज कर दिया था. हालांकि इस समिट के आयोजकों के अनुरोध पर केजरीवाल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एक सत्र को संबोधित करने के लिए तैयार हो गए.  

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शुक्रवार को वायु प्रदूषण के समाधान के लिए आयोजित हो रहे सी 40 जलवायु परिवर्तन शिखर सम्मेलन को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित करेंगे. अरविंद केजरीवाल ने समिट के आयोजकों का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित करने का अनुरोध स्वीकार कर लिया है. शिखर सम्मेलन के सत्र 'गहरी सांस लें, स्वच्छ हवा के लिए शहर का समाधान' के दौरान मुख्यमंत्री का संबोधन होगा.


वे शुक्रवार को दोपहर 12 बजे दुनिया के छह प्रमुख शहरों के महापौरों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को भी संबोधित करेंगे. प्रेस कॉन्फ्रेंस को C40 शहरों के कार्यकारी निदेशक मार्क वाट्स,  पेरिस के मेयर, ऐनी हिडाल्गो, लॉस एंजिल्स के मेयर एरिक गार्सेटी, कोपेनहेगन के मेयर फ्रैंक जेनसेन, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए), बार्सिलोना के मेयर अदा कोलैयू, पोर्टलैंड के मेयर टेड व्हीलर, लीमा के महापौर जॉर्ज मुनोज वेल्स को संबोधित करेंगे. कोपनहेगन में यह संवाददाता सम्मेलन भारतीय समयानुसार दोपहर 12 बजे शुरू होगा.

अरविंद केजरीवाल के डेनमार्क दौरे को मंजूरी नहीं मिलने पर सियासत जारी, सरकार ने क्लियरेंस नहीं देने की बताई वजह

इसमें अरविंद केजरीवाल संभवत: दिल्ली में प्रदूषण कम करने के अनुभवों को साझा करेंगे. गौरतलब है कि दिल्ली में पिछले पांच वर्षों के दौरान 25 प्रतिशत वायु प्रदूषण को कम करने में सफलता मिली है. मुख्यमंत्री ऑड-ईवन की सफलता के बारे में बता सकते हैं. सी 40 शहर साहसिक जलवायु कार्रवाई करने और एक स्वस्थ और अधिक स्थायी भविष्य बनाने के लिए दुनिया के 90 से अधिक शहरों को जोड़ता है. सी 40 शहरों के मेयर स्थानीय स्तर पर पेरिस समझौते के सबसे महत्वाकांक्षी लक्ष्यों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.

दिल्ली में प्रदूषण पर सियासत? डेनमार्क में CM केजरीवाल बताने वाले थे 'दिल्ली में कैसे घटा प्रदूषण', केंद्र ने नहीं दी जाने की मंजूरी

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के डेनमार्क में सी-40 जलवायु सम्मेलन में शामिल होने के मुद्दे पर सियासत गरमाई हुई है. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javedkar) ने कहा कि 'यह मेयर लेवल की कॉन्फ्रेंस है और बंगाल के मंत्री इसमें भाग लेने जा रहे हैं.'

केजरीवाल समेत दुनिया के 20 नेता कोपेनहेगन में अपना-अपना शहर स्वच्छ रखने की लेंगे शपथ

केजरीवाल के इस दौरे को मंजूरी नहीं मिलने पर आम आदमी पार्टी (AAP) मोदी सरकार पर हमलावर है. आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह (Sanjay Singh) ने इसे 'बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण'  बताते हुए कहा, 'इससे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की छवि धूमिल होगी. लोग क्या सोचेंगे कि हमारी संघीय संरचना कैसे काम करती है. केंद्र सरकार हमारे खिलाफ क्यों है?'

VIDEO : केजरीवाल ने कहा स्वच्छता सिर्फ शब्द नहीं, जिंदगी का हिस्सा

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement