NDTV Khabar

केरल में बाढ़ पीड़ितों की हालत पर टीवी पर ही रोने लगे विधायक, बोले- मोदी जी को बोलो हेलीकॉप्टर भेजें, वरना...

चेंगन्नूर में तबाही के इस मंजर के बीच वहां के विधायक साजी चेरियन ने देशवासियों और पीएम मोदी से एक मार्मिक अपील की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
केरल में बाढ़ पीड़ितों की हालत पर टीवी पर ही रोने लगे विधायक,  बोले- मोदी जी को बोलो हेलीकॉप्टर भेजें, वरना...

बाढ़ ने केरल में बढ़ाई लोगों की मुसीबत

नई दिल्ली:

केरल में भारी बारिश, लैंडस्लाइड और बाढ़ की वजह से स्थिति हर बीतते दिन के साथ स्थिति और खराब होती जा रही है. शनिवार को तिरुवनंतपुरम से 120 किलोमीटर दूर चेंगन्नूर इलाके का भी अब राज्य के अन्य हिस्सो से संपर्क टूट गया है. बाढ़ की वजह से यहां भी कई लोगों के मारे जाने की खबर है. हालांकि चेंगन्नूर के लिए सेना और बचाव दल की एक टीम भेज दी गई है. आशंका जताई जा रही है बचाव दल को इलाके से कई लोगों के शव मिल सकते हैं. इस तबाही में अभी तक 324 लोगों की मौत की खबर है. चेंगन्नूर में तबाही के इस मंजर के बीच वहां के विधायक साजी चेरियन ने देशवासियों और पीएम मोदी से एक मार्मिक अपील की है.

यह भी पढ़ें: केरल में बाढ़ पीड़ितों की मदद करने वाली यह लड़की इस वजह से हुई ट्रोल


उन्होंने कहा कि स्थिति काफी गंभीर और भयावह है. कृपया प्रधान मंत्री मोदी को कुछ हेलीकॉप्टर भेजने और हमारी मदद करने के लिए कहें. अगर ऐसा नहीं होता है तो बहुत से लोग मारे जाएंगे. हम लोगों के लिए अब बस एयर लिफ्ट ही एक मात्रा रास्ता बचा है. कृपया हमारी मदद करेंगे, सिर्फ एयरलिफ्टिंग ही हमारी मदद करेगा. 

उन्होंने कहा कि जिस तरह से एकाएक शहर में पानी ने अपना तांडव दिखाया है उसे देखते हुए शहर में 50 से ज्यादा लोगों के मारे जाने की आशंका जताई जा रही है. उन्होंने कहा कि यह आंकड़ा बढ़ भी सकता है अगर समय रहते शहर तक मदद नहीं पहुंची तो. एक टीवी चैनल से बातचीत के दौरान उन्होंने समय रहते प्रभावित इलाकों में हैलिकॉप्टर भेजने की भी मांग की. चैनल पर अपने क्षेत्र की बात करते हुए साजी चेरियन काफी भावुक हो गए. उन्होंने कहा कि हमारे यहां के हालात काफी खराब हैं. कोई पीएमोदी को बताए कि वह हमारे इलाके में जल्द से जल्द हैलिकॉप्टर से मदद से भेजें. वह अगर ऐसा नहीं करेंगे तो इलाके में मरने वालों की संख्या और भी बढ़ सकती है.

यह भी पढ़ें: यूएई ने कहा- केरल हमारी सफलता का सहभागी, बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए बढ़ाया हाथ

उन्होंने कहा कि हमनें आम लोगों की जल्द से जल्द मदद करने के लिए मछुआरों से उनकी नावों लीं. हमारे पास सीमित साधन हैं, लिहाजा हमें मदद की जरूरत है.  अभी तक कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. बैगर मदद के हम इससे बाहर नहीं निकल पाएंगे. उन्होंने कहा कि उनके शहर में बाढ़ पीड़ितों की संख्या ज्यादा है बावजूद इसके प्रभावित लोगों को अभी तक खाने का एक पैकेट तक नहीं मिल पाया है. बच्चे, बुजुर्ग और महिलाओं भूखें हैं, उन्हें जल्द से जल्द मदद की जरूरत है. गौरतलब है कि  केरल में बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है. बाढ़ से केरल के कई इलाकों में हाहाकार है. कई दशकों बाद आई इस बाढ़ की विभीषिका ने अपना विकराल रूप दिखाया है, जिसमें अब तक 324 लोगों की मौत हो गई है.

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी ने की पीएम मोदी से केरल में आई बाढ़ को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग

टिप्पणियां

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल में बाढ़ की विभीषिका की समीक्षा करने के बाद केरल को तत्काल 500 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता देने की घोषणा की है. प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान में बताया कि मोदी ने सभी मृतकों के परिजन को दो-दो लाख रुपये की सहायता राशि और गंभीर रूप से घायल लोगों को 50-50 हजार रुपये प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (पीएमएनआरएफ) से भी देने की घोषणा की है. बयान में कहा गया है, 'प्रधानमंत्री ने राज्य को 500 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता देने की घोषणा की है.

VIDEO: कर्नाटक में भी बाढ़ ने मचाई तबाही.

यह राशि 12 अगस्त को गृह मंत्रालय द्वारा 100 करोड़ रुपये की देने की घोषणा से अलग है.' कोच्चि में एक उच्च स्तरीय बैठक की समीक्षा के बाद प्रधानमंत्री ने बाढ़ से प्रभावित कुछ क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया. बाढ़ की तबाही से जूझ रहे अलुवा-त्रिशुर क्षेत्र के हवाई सर्वेक्षण के दौरान प्रधानमंत्री के साथ राज्यपाल पी सदाशिवम, मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन, केंद्रीय मंत्री के जे अल्फोंस और अन्य अधिकारी मौजूद थे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement