Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

शिवसेना की दगाबाजी के कारण भाजपा को लेना पड़ा पवार का साथ: केशव प्रसाद मौर्य

केशव प्रसाद मौर्य ने बलिया जिले के महेवर गांव में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के वरिष्ठ नेता रहे दत्तोपंत ठेंगड़ी के जन्म शताब्दी वर्ष के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान बातचीत करते हुए शिवसेना पर जमकर निशाना साधा.

शिवसेना की दगाबाजी के कारण भाजपा को लेना पड़ा पवार का साथ: केशव प्रसाद मौर्य

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (फाइल फोटो)

खास बातें

  • महाराष्ट्र में बीजेपी द्वारा बहुमत साबित करने का भरोसा जताया
  • अजित पवार के साथ गठबंधन के लिए शिवसेना को ठहराया जिम्मेदार
  • बलिया में संघ नेता के जन्म शताब्दी वर्ष पर सभा को किया संबोधित
बलिया:

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) ने महाराष्ट्र में भाजपा (BJP) सरकार द्वारा बहुमत साबित करने का पूर्ण भरोसा जताते हुए अजित पवार (Ajit Pawar) के साथ गठजोड़ के लिए शिवसेना (Shivsena) की कथित दगाबाजी और विश्वासघात को जिम्मेदार ठहराया. बता दें, मौर्य ने बलिया जिले के महेवर गांव में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के वरिष्ठ नेता रहे दत्तोपंत ठेंगड़ी के जन्म शताब्दी वर्ष के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान बातचीत करते हुए शिवसेना पर जमकर निशाना साधा. महाराष्ट्र में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) नेता अजित पवार के साथ सरकार बनाने को लेकर भाजपा और उसके नेतृत्व पर उठ रहे सवालों पर सफाई देते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा ने शिवसेना से गठबंधन कर चुनाव लड़ा, जनता ने गठबंधन के पक्ष में आशीर्वाद भी दिया, लेकिन शिवसेना ने दगाबाजी व विश्वासघात किया, जिसके परिणामस्वरूप अजित पवार का साथ लेना पड़ा.

क्या महाराष्ट्र में BJP साबित कर पाएगी बहुमत? केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने दिया यह जवाब

यह पूछे जाने पर कि क्या भाजपा सरकार सदन में अपना बहुमत साबित कर पाएगी, उन्होंने कहा कि उनको पूरा भरोसा है कि भाजपा सरकार बहुमत साबित कर देगी. इसके साथ ही ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के पुनर्विचार याचिका दाखिल करने से राम मंदिर के निर्माण में बाधा आने के सवाल पर उन्होंने कहा कि पुनर्विचार याचिका से राम मंदिर निर्माण पर कोई असर नही पड़ेगा. वहीं समान नागरिक संहिता को लागू करने के सवाल पर मौर्य कहा कि भाजपा सरकार ने संसद की कार्ययोजना में समान नागरिक संहिता को शामिल किया है. 

महाराष्ट्र मामला: SC में आज फिर सुनवाई, 10:30 बजे तक पेश करना है समर्थन पत्र, राज्यपाल की चिट्ठी

इसके अलावा संसद की रक्षा सलाहकार समिति में आतंकवादी हमले की आरोपी सांसद साध्वी प्रज्ञा जैसे नेताओं को शामिल करने से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि केवल मुकदमा दर्ज होने से कोई दागी नही हो जाता. यह सभी जनता के चुने हुए प्रतिनिधि हैं. इसके साथ ही उप मुख्यमंत्री ने सपा मुखिया अखिलेश यादव के 2022 में अपने बलबूते चुनाव लड़ने के एलान पर बयान पर कहा कि जब बुआ (मायावती) और बबुआ मिलकर भाजपा को रोक नहीं पाए तो अकेले लड़कर कुछ हासिल नहीं कर सकेंगे. 2022 के विधानसभा चुनाव में भी भाजपा की जीत होगी.

VIDEO: मैं हमेशा NCP में ही रहूंगा और पवार साहेब हमारे नेता हैं: अजित पवार



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)