बेटे के हिज्‍बुल में शामिल होने का संदेह, मां ने कहा- सरकार को उसे मार देना चाहिए

असम के एक लापता युवक के जम्मू कश्मीर में आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल होने का संदेह है.

बेटे के हिज्‍बुल में शामिल होने का संदेह, मां ने कहा- सरकार को उसे मार देना चाहिए

कमर की मां ने तस्वीर में दिख रहे युवक की पहचान अपने लापता बेटे के रूप में की है

खास बातें

  • कमर की मां ने तस्वीर में दिख रहे युवक की पहचान अपने बेटे के रूप में की
  • सरकार को उसे देशद्रोही होने पर मार देना चाहिए
  • उसकी लाश जानवरों के सामने डाल देनी चाहिए
गुवाहाटी :

असम के एक लापता युवक के जम्मू कश्मीर में आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल होने का संदेह है. एक ऑटोमैटिक राइफल लिये उसकी तस्वीर सामने आने के बाद उसकी मां ने भी कहा कि सरकार को उसे मार देना चाहिए. 

पहले आतंकी केसों में फंसाया; 14 साल जेल में गुजरे, और अब पुलिस ने दिए 5 लाख

सोशल मीडिया पर तस्वीर वायरल होने के बाद असम पुलिस ने कहा कि उसने मामले में जांच शुरू कर दी है और पता लगाने की कोशिश कर रही है कि क्या कमर उज्जमान नामक शख्स आतंकवादी संगठन में शामिल हो गया है?  तस्वीर में नौगांव जिले के जमुनामुख का रहने वाला कमर ऑटोमैटिक राइफल लिये हुए है. फोटो के कैप्शन से लगता है कि वह हिज्बुल मुजाहिदीन का सदस्य है.

कैप्शन में लिखा है 
संगठन: हिज्बुल मुजाहिदीन 
नाम : कमर उज्जमान 
वल्दियत : इब्राहिम जमां 
निवासी : असम भारत 
कोड : डॉ हुरैया 
योग्यता : एमए इंग्लिश
 
पुलिस महानिदेशक मुकेश सहाय ने कहा कि असम पुलिस , जम्मू कश्मीर की पुलिस के साथ संपर्क में है. विशेष शाखा के विशेष डीजीपी पल्लव भट्टाचार्य ने कहा कि इसकी पुष्टि करना मुश्किल है कि क्या कमर इस आतंकी संगठन में शामिल हो गया है और राज्य पुलिस ने विस्तृत जांच के लिए जम्मू कश्मीर पुलिस के साथ मामले को उठाया है.

जम्‍मू कश्‍मीर में अलगाववादी नेता का बेटा हुआ आतंकी संगठन में शामिल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कमर की मां ने तस्वीर में दिख रहे युवक की पहचान अपने लापता बेटे के रूप में की और कहा कि सरकार को उसे देशद्रोही होने पर मार देना चाहिए. उन्होंने अपने घर में संवाददाताओं से कहा, ‘हां , वह मेरा बेटा कमर है. अगर वह आतंकी संगठन में शामिल हो गया है तो सरकार को उसे मार देना चाहिए. वह देश का दुश्मन है. उसकी लाश जानवरों के सामने डाल देनी चाहिए. मुझे ऐसा बेटा नहीं चाहिए. ऐसा शख्स जिंदा नहीं रहना चाहिए.’ 

पांच संतानों की मां ने दावा किया कि कमर यह कहते हुए घर से गया था कि वह कश्मीर में कारोबार शुरू करने के लिए जा रहा है. पिछले दस महीने से उसने परिवार के साथ कोई संपर्क नहीं रखा.