कृषि कानूनों पर राहुल गांधी की सरकार से दोटूक, 'रोज नए जुमले और जुल्‍म बंद करो, सीधे-सीधे...'

दर्शनकारी किसानों का आरोप है कि इन कानूनों से मंडी व्यवस्था और न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर खरीद की प्रणाली समाप्त हो जाएगी और किसानों को बड़े कारपोरेट घरानों की ‘कृपा’ पर रहना पड़ेगा.

कृषि कानूनों पर राहुल गांधी की सरकार से दोटूक, 'रोज नए जुमले और जुल्‍म बंद करो, सीधे-सीधे...'

कृषि कानूनों के मसले पर राहुल लगातार केंद्र सरकार पर हमला बोल रहे हैं (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली:

Kisan Aandolan: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul gandhi) ने किसान संगठनों एवं सरकार के बीच कई दौर की बातचीत के बाद भी गतिरोध बरकरार रहने को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि उसे ‘रोज नए जुमले' बंद कर ‘कृषि विरोधी कानूनों' (Farm laws) को रद्द करना चाहिए. उन्होंने गुरुवार को ट्वीट किया, ‘‘ रोज़ नए जुमले और ज़ुल्म बंद करो, सीधे-सीधे कृषि-विरोधी क़ानून रद्द करो.''गौरतलब है कि हजारों की संख्या में किसान दिल्ली की सीमाओं पर पिछले करीब दो महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं.

कृष‍ि कानूनों को डेढ़ साल के लिए रोकने के सरकार के प्रस्ताव को किसानों ने ठुकराया, रद्द करने की मांग दोहराई

केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसान, नये कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे हैं. प्रदर्शनकारी किसानों का आरोप है कि इन कानूनों से मंडी व्यवस्था और न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर खरीद की प्रणाली समाप्त हो जाएगी और किसानों को बड़े कारपोरेट घरानों की ‘कृपा' पर रहना पड़ेगा. हालांकि, सरकार इन आशंकाओं को खारिज कर चुकी है.

गाजीपुर बार्डर पर अनाज से भरी ट्रालियां बढ़ा रही किसानों की सिरदर्दी, खराब होने का डर

किसान आंदोलन को समाप्त करने के एक प्रयास के तहत केंद्र सरकार ने बुधवार को आंदोलनकारी किसान संगठनों के समक्ष इन कानूनों को एक से डेढ़ साल तक निलंबित रखने और समाधान का रास्ता निकालने के लिए एक समिति के गठन का प्रस्ताव रखा है. दोनों पक्षों के बीच अब 11वें दौर की बैठक 22 जनवरी को होगी.


ट्रैक्टर रैली पर आदेश से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)