NDTV Khabar

इलाज के नाम पर महिलाओं को गले लगाकर लेता था चुंबन, असम में गिरफ्तार हुआ ‘किसिंग बाबा’

असम के मोरीगांव से एक बाबा को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. यह बाबा महिलाओं की समस्या को ठीक करने के नाम पर उन्हें गले लगाकर चुंबन लेता था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
इलाज के नाम पर महिलाओं को गले लगाकर लेता था चुंबन, असम में गिरफ्तार हुआ ‘किसिंग बाबा’

यह बाबा इलाज के नाम पर महिलाओं का शोषण करता था.

खास बातें

  1. असम में गिरफ्तार हुआ ‘किसिंग बाबा’
  2. इलाज के नाम पर महिलाओं को गले लगाकर लेता था चुंबन
  3. 'चमत्कारी चुंबन' से महिलाओं के इलाज का दावा करता था यह बाबा
असम: असम के मोरीगांव से एक बाबा को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. यह बाबा महिलाओं की समस्या को ठीक करने के नाम पर उन्हें गले लगाकर चुंबन लेता था. इस बाबा का नाम राम प्रकाश है, जिसे लोग किसिंग बाबा के नाम से जानते हैं. राम प्रकाश चौहान को पुलिस बीते 22 अगस्त को भोरतापुल गांव से गिरफ्तार किया. राम प्रकाश चौहान उर्फ किसिंग बाबा यह दावा करता था कि वह महिलाओं की शारीरिक और मनोवैज्ञानिक समस्याओं को अपने चमत्कारी चुंबन से ठीक कर देता है. 

माता-पिता से शादी के लिए लड़का तलाशने का वादा कर, महिला वकील से बाबा करने लगा छेड़खानी, गिरफ्तार

इस बाबा का यह भी दावा था कि उसके भगवान विष्णु से "अलौकिक शक्तियां" प्राप्त की जाती हैं और वह वैवाहिक समस्याओं पर सहायता मांगने वाली किसी भी महिला को ठीक कर सकता है. यहां तक की इस बाबा के घर में एक मंदिर भी था, जहां वह महिलाओं का इलाज करता था. राम प्रकाश चौहान उर्फ किसिंग बाबा ने एक महीने पहले ही यह उपचार शुरू किया था. इलाज के बहाने इस बाबा ने उन ग्रामीण महिलाओं का शोषण किया, जो अंधविश्वासी थे.

ओडिशा में स्वयंभू 'साधु' सारथी बाबा गिरफ्तार

टिप्पणियां
बताया जा रहा है कि इस बाबा ने गांव में काफी प्रतिष्ठा अर्जित कर ली थी, लेकिन उसे सम्मानित नहीं किया गया था. बताया जाता है कि मोरीगांव में सदियों से काले जादू का आस्तित्व रहा है. यहां तक की इस बाबा के शक्तियों की अफवाहें इसकी मां ने भी गांव में फैलाई थी. इस मामले में किसिंग बाबा की मां से पूछताछ की जा रही है.

VIDEO: असम में मॉब लिंचिंग, ऑटो में बैठे चार लोगों की पिटाई
मोरीगांव जिले में किसिंग बाबा के अलावा और भी कई लोग हैं, जो भगवान विष्णु से शक्तियां प्राप्त होने का दावा करते हैं. मोरगांव में साक्षरता दर असम के अन्य जिलों से काफी कम है. ऐसे में यहां रहने वाले ज्यादातक लोग काले जादू जैसी बातों पर विश्वास करते हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement