NDTV Khabar

मेट्रो यात्री कम खर्चें में करना चाहते हैं यात्रा तो ये है 'जुगाड़', 500 रुपए तक हर महीने बचाएं

जुगाड़ के जरिए कई लोग अप-डाऊन (दोनों तरफ की यात्रा) की यात्रा में करीब 20 रुपए की बचत कर रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मेट्रो यात्री कम खर्चें में करना चाहते हैं यात्रा तो ये है 'जुगाड़', 500 रुपए तक हर महीने बचाएं

मेट्रो दिल्ली की लाइफलाइन बन चुकी है.

खास बातें

  1. मेट्रो का किराया बचाने के लिए लोगों ने ढूंढा जुगाड़
  2. दोनों तरफ की यात्रा में बचते हैं रोजाना 20 रुपये
  3. 10 मई को बढ़ा था का किराया, एक अक्टूबर से और बढ़ेगा
नई दिल्ली:

पिछले दिनों दिल्ली मेट्रो के किराए में बढ़ोत्तरी से लोगों के महीने का बजट बिगड़ गया है. कई लोगों ने इसका जुगाड़ निकाल लिया है. अगर आप अब तक इस जुगाड़ के बारे में नहीं जानते हैं तो हम आपको बता रहे हैं. इस जुगाड़ के जरिए कई लोग अप-डाऊन (दोनों तरफ की यात्रा) की यात्रा में करीब 20 रुपए की बचत कर रहे हैं. इतना ही नहीं इस जुगाड़ के जरिए लोग अपनी फिटनेस का भी लाभ ले रहे हैं. दिल्ली के एक मल्टीनेशल कंपनी में काम करने वाले अतुल सक्सेना नोएडा के सेक्टर 137 में रहते हैं. पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्हें नौकरी ज्वाइन किए हुए चार महीने ही हुए हैं, जिसके चलते उनकी सैलरी अभी काफी कम है. अतुल ने बताया कि उन्हें अपना खर्च चलाने के लिए बेहद हिसाब से काम चलाना पड़ता है. अब मेट्रो का किराया बढ़ जाने से उनका बजट बिगड़ गया है. उन्होंने बताया कि अब वे मेट्रो का किराए बचाने के लिए एक स्टेशन पहले उतर जाते हैं और वहां से पैदल ऑफिस चले जाते हैं.

ये भी पढ़ें: न टोकन चाहिए होगा न स्मार्ट कार्ड, बस यह स्मार्टवॉच पहनिए और प्रवेश पाइए


एटा के रहने वाले रामदीप मिश्रा ने बताया कि पहले नोएडा सिटी सेंटर से एम्स के लिए मेट्रो पकड़ते थे. अब इन दोनों स्टेशनों के बीच का किराया 40 रुपए हो गए हैं. इस लिए वे अब बस से एम्स जाते हैं. नोएडा से एम्स तक बस का किराया 24 रुपए पड़ता है. इसी तरह आलोक और कमलेश ने बताया कि अब वे मेट्रो के बजाय शेयरिंग कैब से ऑफिस जाते हैं. मेट्रो के बजाय कैब से चलने से वे रोजाना 30 रुपए बचा लेते हैं. दोनों पांडव नगर में रहते हैं और दोनों एक ही जगह काम करते हैं. 

ये भी पढ़ें: दिल्ली मेट्रो का तीसरा चरण मार्च 2018 तक तकरीबन पूरी तरह हो जाएगा शुरू

इसी तरह सेक्टर 37 से न्यू अशोक नगर के एलआईसी ऑफिस में करने वाली दिव्या ने बताया कि इन दोनों स्टेशनों के बीच मेट्रो का किराया 18 रुपए है, जबकि बैट्री रिक्शा से उन्हें 10 रुपए लगते हैं.

वीडियो: मेट्रो यात्री जानें क्या आपका QR कोड

टिप्पणियां

मालूम हो कि दिल्ली मेट्रो रेल की 10 मई से आठ साल बाद हुई किराया बढ़ोत्तरी से दैनिक यात्री 1.48 लाख औसतन घट गए हैं. हालांकि यात्रा का औसत किमी मामूली सा बढ़ा है और डीएमआरसी का औसतन दैनिक राजस्व जून-2016 के मुकाबले जून 2017 में 4.92 करोड़ से बढ़कर 6.73 करोड़ पहुंच गई है.

एक अक्टूबर से मेट्रो और भी महंगा: दिल्ली मेट्रो एक अक्टूबर से एक बार फिर से किराए में बढ़ोत्तरी करेगी. 12-18 किलोमीटर यात्रा करने वालों 9 मई के मुकाबले 18.50 रुपये की जगह सीधे 40 रुपये का भुगतान करना पड़ेगा. इसी तरह 32 किलोमीटर से ज्यादा यात्रा करने पर 50 के बजाय 60 रुपए देने होंगे.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement