NDTV Khabar

निजी तेल कंपनियों की कमाई का सरकार के पास हिसाब नहीं, सरकारी कंपनियों ने किया 12 लाख करोड़ का कारोबार

आप जानकर हैरान रह जाएंगे कि सिर्फ एक साल के भीतर महज सरकारी कंपनियों ने 12 लाख करोड़  का कारोबार किया है. जिसमें 68 हजार करोड़ सिर्फ मुनाफा है.  

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
निजी तेल कंपनियों की कमाई का सरकार के पास हिसाब नहीं, सरकारी कंपनियों ने किया 12 लाख करोड़ का कारोबार

फाइल फोटो.

खास बातें

  1. लगातार हो रही पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी
  2. तेल पर टैक्स कम करने की मांग से सरकार का इनकार
  3. लगातार महंगे होते तेल से कंपनियों का खजाना भर रहा है
नई दिल्ली: पिछले क़रीब दो हफ़्तों से पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. मौजूदा वक्त दिल्ली में पेट्रोल 80. 87 रुपये और डीज़ल 72.  97 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है. वहीं मुंबई में पेट्रोल 88 रुपये 26 पैसे और डीज़ल 77 रुपये 47 पैसे प्रति लीटर बिक रहा है. लगातार बढ़ती कीमतों से महंगाई की मार से कराह रही जनता राहत की आस में है, तेल पर टैक्स कम करने की मांग उठ रही है. मगर सरकार ने टैक्स कम करने से इन्कार किया है. इन सबके बीच तेल कंपनियां मलाई काट रहीं हैं.  लगातार महंगे होते तेल से कंपनियों का खजाना भर रहा है. आप जानकर हैरान रह जाएंगे कि सिर्फ एक साल के भीतर महज सरकारी कंपनियों ने 1292564.93 करोड़  का कारोबार किया है. जिसमें 68598.08 करोड़   रुपये तो शुद्ध मुनाफा है.  पिछले दिनों संसद सत्र के दौरान हुए एक लिखित सवाल के जवाब में सरकार ने सरकारी कंपनियों की कमाई का हिसाब-किताब दिया था. हालांकि पेट्रोलियम एवं गैस मंत्रालय ने प्राइवेट तेल कंपनियों की कमाई का ब्यौरा उपलब्ध कराने में असमर्थता जाहिर की थी. कहा था कि पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय निजी क्षेत्र की कंपनियों की कमाई का हिसाब नहीं रखता.

तेल की कीमतों को लेकर सोशल मीडिया पर कांग्रेस-बीजेपी की जंग, ट्रोल होने के बाद BJP ने दी ये सफाई

जानिए सरकारी तेल कंपनियों की कमाई
वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान सरकारी तेल एवं गैस कंपनियों की कमाई का पेट्रोलियम मंत्रालय ने ब्यौरा उपलब्ध कराया है. जिसके मुताबिक इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड ने इस दौरान 509,842 करोड़ का कारोबार और 21,346.00 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया. इसी तरह भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड ने 277,162.23 करोड़ का कारोबार और 7,919.34 करोड़ का मुनाफा, हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड ने 244,085.12 करोड़ और 6357.07 करोड़, तेल और प्राकृतिक गैस निगम ने 85004.00 और 19945.00 करोड़ का मुनाफा कमाया. वहीं गेल ने 53690 करोड़ का कारोबार और 4618.00 रुपये का मुनाफा कमाया. मंगलौर रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड, चेन्नई पेट्रोलियम कारपोरेशन, ऑयल इंडिया लिमिटेड, बामर लॉरी एंड कंपनी लिमिटेड और इंजीनियरिंस इंडिया लिमिटेड ने भी अच्छा-खासा कारोबार और मुनाफा अर्जित किया( देखें चार्ट)

आंध्र प्रदेश में पेट्रोल, डीजल कीमतों में 2 रुपये की कमी
 
04l2ep5o

वर्ष 2017-18 में सरकारी पेट्रोलियम कंपनियों की कमाई का यह ब्यौरा सरकार संसद में दे चुकी है.

आज फिर बढ़े पेट्रोल-डीज़ल के दाम, देश में पहली बार पेट्रोल 90 रुपये के पार​

किसने किया था सवाल

तृणमूल कांग्रेस के सांसद प्रो. सौगत राय ने संसद के मानसून सत्र के दौरान पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय से सवाल किया था. जिस पर बीते 23 जुलाई को मंत्रालय ने सरकारी तेल कंपनियों की कमाई का ब्यौरा उपलब्ध कराते हुए कहा था कि निजी कंपनियों के मुनाफे की जानकारी नहीं दी थी. कहा था कि मंत्रालय ब्यौरा नहीं रखता. दरअसल सांसद ने सवाल किया था कि पिछले वित्तीय वर्ष के दौरान सरकारी और निजी तेल कंपनियों की कमाई का ब्यौरा क्या है.

टिप्पणियां
वीडियो-तेल के दाम बढ़ने से मंडियों पर असर, ढुलाई महंगी होने से दुकानदार परेशान 


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement