कोलकाता की वकील को मोबाइल फोन चार्जर की तार से पति का गला घोंटने के आरोप में जेल की सजा

बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले की एक फास्ट-ट्रैक अदालत ने एक वकील को मोबाइल फोन चार्जर की तार से पति की हत्या करने के जुर्म में उम्रकैद की सजा सुनाई है.

कोलकाता की वकील को मोबाइल फोन चार्जर की तार से पति का गला घोंटने के आरोप में जेल की सजा

प्रतीकात्मक तस्वीर

कोलकाता :

बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले की एक फास्ट-ट्रैक अदालत ने एक वकील को मोबाइल फोन चार्जर की तार से पति की हत्या करने के जुर्म में उम्रकैद की सजा सुनाई है. अतिरिक्त जिला और सत्र न्यायाधीश सुजीत कुमार झा ने हत्या के मामले में सोमवार को वकील अनिंदिता पाल को दोषी ठहराया. कोर्ट ने उन्हें आजीवन कारावास और 10 हजार रुपये का जुर्माना देने की सजा सुनाई.

अदालत ने आरोपी को "सबूतों को गायब करने" का दोषी पाया और ऐसा करने के लिए एक साल की जेल की सजा सुनाई. दोनों मामलों में एक साथ सजा सुनाई गई. विशेष सरकारी वकील बिभास चटर्जी ने आरोपी के लिए मौत की सजा की मांग की और दावा किया कि यह एक पूर्व-निर्धारित साजिश थी.

यह भी पढ़ें:दिल्ली दंगों की साज़िश से जुड़ी 17,500 हज़ार से ज्यादा पेज की चार्जशीट पुलिस ने कोर्ट में दाखिल की

अदालत ने, हालांकि, आरोपी को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. मामले में कोई भी प्रत्यक्षदर्शी नहीं है और सजा परिस्थितिजन्य साक्ष्य के आधार पर दी गई है. अनिंदिता पाल ने कहा कि उन्हें फंसाया जा रहा है और वह "खून की आखिरी बूंद" तक अपनी लड़ाई जारी रखेंगी.

मुकदमे के दौरान, अभियोजन पक्ष ने दावा किया था कि 24 और 25 नवंबर, 2018 की रात को, अनिंदिता पाल ने कोलकाता में अपने न्यू टाउन फ्लैट में एक मोबाइल फोन चार्जर के तार से अपने पति रजत डे की गला घोंट कर हत्या कर दी थी. अभियोजन पक्ष ने दावा किया कि पति-पत्नी के बीच तनावपूर्ण संबंध थे जिसके कारण रजत डे की हत्या हुई.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

हालांकि अनिंदिता के पक्ष का दावा है कि आरोपी के पति दूसरे कमरे में सो रहे थे, उनके कमरे से आवाज आने के बाद अनिंदिता वहां पहुंची थीं. मामले में रजत डे के पिता ने एक FIR दर्ज कराई थी जिसमें आरोप लगाया गया था कि अनिंदिता पाल ने उनके बेटे की हत्या कर दी थी. आरोपी को 29 नवंबर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था.

मामले में मुकदमे और दलीलें इस साल मार्च में पूरी हुईं. अनिंदिता पाल और उनके पति दोनों कोलकाता हाइकोर्ट में वकील थे. 
 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)