राजस्थान कांग्रेस में मचे घमासान पर बोले कुमार विश्वास- देश का विपक्ष योग्य को जगह...

कुमार विश्वास ने एक ट्वीट कर विपक्ष पर निशाना साधा था. उन्होंने अपने ट्वीट में कहा था कि  शक्तिशाली, एकजुट, चतुर व नितिहीन प्रतिद्वंद्वी से कमजोर, असुरक्षित व आत्ममुग्ध नेतृत्व लेकर नहीं लड़ा जा सकता.

राजस्थान कांग्रेस में मचे घमासान पर बोले कुमार विश्वास- देश का विपक्ष योग्य को जगह...

विपक्ष को लेकर कुमार विश्वास का निशाना. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • कुमार विश्वास के निशाने पर विपक्ष
  • कहा- देश के विपक्ष में योग्य को जगह नहीं
  • अशोक गहलोत को लिया था निशाने पर
नई दिल्ली:

राजस्थान कांग्रेस (Rajasthan Congress Crisis) में पिछले चार दिनों से चल रहे घमासान के बीच मंगलवार को सचिन पायलट (Sachin Piliot sacked) को डिप्टी सीएम और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पद से हटा दिया गया. रविवार को सचिन पायलट की खुली बगावत सामने आई थी, जिसके बाद मंगलवार तक मामला यहां तक आ पहुंचा. इस पूरे घटनाक्रम में कांग्रेस और पायलट का अलग खेमा बंट गया है. वहीं, सबके निशाने पर राष्ट्रीय विपक्षी पार्टी कांग्रेस है. कुमार विश्वास  (Kumar Vishwas) ने सोमवार को एक ट्वीट कर विपक्ष पर निशाना साधा था. उन्होंने अपने ट्वीट में कहा था कि शक्तिशाली,एकजुट,चतुर व नीतिहीन प्रतिद्वंद्वी से कमजोर,असुरक्षित व आत्ममुग्ध नेतृत्व लेकर नहीं लड़ा जा सकता. उन्होंने कहा कि देश का पूरा विपक्ष योग्य के लिए जगह नहीं छोड़ता है.

कुमार विश्वास ने अपने ट्वीट में लिखा, 'शक्तिशाली,एकजुट,चतुर व नितिहीन प्रतिद्वंद्वी से कमजोर,असुरक्षित व आत्ममुग्ध नेतृत्व लेकर नहीं लड़ा जा सकता. देश का सारा विपक्ष योग्य के लिए स्थान न छोड़ने वाला व छोटी अहमन्यताओं से भरा हुआ है.विपक्ष की इस बेचारगी के लिए सत्ता की अलोकतांत्रिक हनक के सिवा वे स्वयं भी क़सूरवार है.'

कुमार विश्वास ने इसके पहले अशोक गहलोत की सरकार पर भी निशाना साधा था. उन्होंने अपना एक दो साल पुराना ट्वीट शेयर करते हुए लिखा था कि भारतीय राजनीति उनके इस ट्वीट को हमेशा प्रासंगिक बनाए रखती है. दरअसल, 18 मई, 2018 को कुमार विश्वास ने अपने एक ट्वीट में लिखा था, 'लोकतांत्रिक राजा के सिर्फ़ चार धर्म होते हैं-: 1. राजा बनना, 2. राजा बने रहना, 3. किसी को भी राजा न बनने देना और 4. राजा बनने योग्य व्यक्ति को राजद्रोह का आरोप लगाकर राज्य से निकाल देना (जब तक राजा की इन नीचताओं पर ईश्वर की कोप-दृष्टि न पड़े).'

बता दें कि पार्टी की ओर से पदों से मुक्त किए जाने के बाद सचिन पायलट ने अपनी पहली प्रतिक्रिया देते हुए ट्विटर पर ट्वीट करते हुए कहा कि 'सत्य परेशान हो सकता है, पराजित नहीं.' अब पायलट जब खुले तौर पर मैदान में सामने हैं और कांग्रेस की तरफ से फैसला भी ले लिया गया है तो देखना होगा कि अब दोनों पक्षों के पास क्या-क्या विकल्प हैं और राजस्थान में कैसे पासा पलटता है.

Video: सचिन पायलट मंत्री पद से बर्खास्त, गवर्नर से मिले गहलोत

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com