राजस्थान कांग्रेस संकट पर कुमार विश्वास ने शेयर किया अपना पुराना ट्वीट- 'लोकतांत्रिक राजा के चार धर्म....'

राजस्थान कांग्रेस के बिखरने की आशंकाओं के बीच कुमार विश्वास ने इशारों-इशारों में पूरी स्थिति पर तंज कसा है. उन्होंने अपना दो साल पुराना एक ट्वीट शेयर करते हुए हैरानी जताई है कि आखिर कैसे लगातार उठा-पटक देखने वाली भारतीय राजनीति पर उनका यह ट्वीट कितना फिट बैठता है.

राजस्थान कांग्रेस संकट पर कुमार विश्वास ने शेयर किया अपना पुराना ट्वीट- 'लोकतांत्रिक राजा के चार धर्म....'

कुमार विश्वास का राजस्थान कांग्रेस के संकट पर निशाना. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • कुमार विश्वास का राजस्थान कांग्रेस पर तंज
  • शेयर किया पुराना ट्वीट
  • बताए लोकतांत्रिक राजा के चार धर्म
नई दिल्ली:

राजस्थान कांग्रेस के बिखरने की आशंकाओं के बीच कुमार विश्वास ने इशारों-इशारों में पूरी स्थिति पर तंज कसा है. उन्होंने अपना दो साल पुराना एक ट्वीट शेयर करते हुए हैरानी जताई है कि आखिर कैसे लगातार उठा-पटक देखने वाली भारतीय राजनीति पर उनका यह ट्वीट इतना फिट बैठता है. उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि उन्हें हैरानी होती है कि आखिर कैसे उनका यह ट्वीट हमेशा प्रासंगिक बना रहता है. 

उन्होंने अपने इस ट्वीट में लिखा, 'मेरे इस पुराने ट्वीट को, हमारी राजनीति कितनी शिद्दत से अमर किए हुए हैं.'

दरअसल, 18 मई, 2018 को कुमार विश्वास ने अपने एक ट्वीट में लिखा था, 'लोकतांत्रिक राजा के सिर्फ़ चार धर्म होते हैं-: 1. राजा बनना, 2. राजा बने रहना, 3. किसी को भी राजा न बनने देना और 4. राजा बनने योग्य व्यक्ति को राजद्रोह का आरोप लगाकर राज्य से निकाल देना (जब तक राजा की इन नीचताओं पर ईश्वर की कोप-दृष्टि न पड़े).'

कुमार विश्वास का निशाना राजस्थान कांग्रेस की हलचल पर था. एक बार फिर कांग्रेस की सरकार वाले एक राज्य में हलचल तेज हो गई है. यहां पर सचिन पायलट के बगावत करने की खबरें हैं.  कहा जा रहा है कि अशोक गहलोत को हटाकर खुद मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं. सूत्रों के हवाले से खबर आ रही हैं कि सोमवार को सचिन पायलट भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात कर सकते हैं. प्रदेश के राजनीतिक हालात को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेस के विधायक दल की बैठक बुलाई है, जानकारी है कि इसमें सचिन पायलट शामिल नहीं होंगे. पार्टी ने विधायकों को व्हिप जारी कर मीटिंग में मौजूद रहने को कहा है, वर्ना अनुशासनात्मक कार्रवाई होगी. 

कांग्रेस राज्य में पूरी तरह अपनी कुर्सी बचाने में लगी हुई है. यहां रात ढाई बजे पार्टी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि उसके पास 109 विधायकों का समर्थन है और कुछ विधायक उनके संपर्क में हैं. बता दें कि कांग्रेस मध्य प्रदेश और कर्नाटक में सरकार बना लेने के बावजूद बीजेपी से गच्चा खा चुकी है, ऐसे में वो राजस्थान भी अपने हाथ से नहीं निकलने देना चाहेगी.

Video: संकट में राजस्थान सरकार, गिराने-बचाने की कोशिश जारी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com