NDTV Khabar

सरकार के पास सिक्‍कों को रखने की जगह नहीं, इसलिए रोका उत्‍पादन

चार सरकारी छापाखानों ने बाजार में सिक्के की अधिकता तथा भंडारण के लिए जगह की कमी का हवाला देते हुए सिक्कों का उत्पादन बंद कर दिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सरकार के पास सिक्‍कों को रखने की जगह नहीं, इसलिए रोका उत्‍पादन

सरकार ने सिक्‍कों का उत्‍पादन किया बंद (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. कोलकाता, मुंबई, नोएडा और हैदराबाद में हैं छापाखाने
  2. जगह की कमी के चलते सिक्कों का उत्पादन बंद कर दिया
  3. छापाखानों में बिना ‘ओवरटाइम’ के कार्य के सामान्य घंटों में काम होता रहेगा
कोलकाता/मुंबई: चार सरकारी छापाखानों ने बाजार में सिक्के की अधिकता तथा भंडारण के लिए जगह की कमी का हवाला देते हुए सिक्कों का उत्पादन बंद कर दिया है. सरकारी सूत्रों ने बताया कि कोलकाता, मुंबई, नोएडा और हैदराबाद स्थित छापाखानों ने यह बंद किया है.

मध्‍यप्रदेश में एक आदमी के पेट से निकले थे 263 सिक्‍के

छापाखानों का संचालन करने वाली सार्वजनिक कंपनी सिक्योरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड ने मंगलवार एक निर्देश में कहा था कि प्रचलन वाले सिक्कों का उत्पादन तत्काल प्रभाव से बंद कर दिया गया है. उसमें कहा गया था कि छापाखानों में बिना ‘ओवरटाइम’ के कार्य के सामान्य घंटों में काम होता रहेगा.

वहीं इससे पहले लोकसभा में मोहम्मद सलीम के प्रश्न के लिखित उत्तर में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि आरबीआई ने सूचित किया है कि उसे जनता और कुछ संगठनों की ओर से शिकायतें मिली हैं कि बैंक सिक्के स्वीकार नहीं कर रहे हैं. आरबीआई ने बैंको को परामर्श दिया है कि वे लेनदेन और विनिमय में सिक्के स्वीकार करें.

पहली बार बाजार में आएगा 100 रुपये का स‍िक्‍का, जानिए क्‍या होगा खास?

जेटली ने कहा कि आरबीआई के क्षेत्रीय कार्यालयों को निर्देश दिया गया है कि वे अपने तहत आने वाले बैंकों के नियंत्रकों को सभी शाखाओं में सिक्के स्वीकार करने का निर्देश दें.

टिप्पणियां
उन्होंने कहा कि आरबीआई के क्षेत्रीय कार्यालयों को भी परामर्श दिया गया है कि वे जनता से सिक्के स्वीकार करने के लिए अपने काउंटर खोलें.

VIDEO: नकली सिक्के बनाने वाली टकसाल का हुआ था भंडाफोड
वित्त मंत्री ने कहा कि आरबीआई के आदेशानुसार लोग बैंक शाखाओं में सिक्के बदल सकते हैं.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement