गणतंत्र दिवस परेड में पहली बार नजर आई लद्दाख और कोविड-19 की झांकी बनीं आकर्षण का केंद्र

कोरोना वायरस के सुरक्षा उपायों के बीच देश की राजधानी दिल्‍ली में हुई 72वीं गणतंत्र दिवस परेड (Republic day Parade) में मंगलवार को कुछ चीजें पहली बार देखने को मिलीं

गणतंत्र दिवस परेड में पहली बार नजर आई लद्दाख और कोविड-19 की झांकी बनीं आकर्षण का केंद्र

बायोटेक्‍नॉलाजी विभाग की इस बार की झांकी 'आत्‍मनिर्भर भारत' की थीम पर थी

नई दिल्ली:

Republic day Parade: कोरोना वायरस के सुरक्षा उपायों (coronavirus safety measures) के बीच देश की राजधानी दिल्‍ली में 72वीं गणतंत्र दिवस परेड (Republic day Parade) में मंगलवार को कुछ चीजें पहली बार देखने को मिलीं, इसमें केंद्र शासित क्षेत्र लद्दाख की झांकी और कोविड-19 की महामारी पर केंद्रित झांकी सबके बीच चर्चा का विषय बनीं. कोरोना महामारी के बीच इस बार की छोटी और कम प्रतिभागियों वाली परेड और कम मेहमान के बीच इन झांकियों में भारत की संस्‍कृति और क्षमता का चित्रण देखने को मिला. वर्ष 2020 में देश सहित पूरी दुनिया ने कोरोना संक्रमण की महामारी का सामना किया, इसकी झांकी भी इस बार परेड में दिखाई दी. हालांकि यह देश में विकसित की गई कोरोना वैक्‍सीन के लिए भी जाना जाएगा. बायोटेक्‍नॉलाजी विभाग की इस बार की झांकी 'आत्‍मनिर्भर भारत' की थीम पर थी, इसमें देश में विकसित कोविड-19 वैक्‍सीन को 'मिशन कोविड सुरक्षा' के स्‍लोगन के साथ दिखाया गया.

अयोध्या में गणतंत्र दिवस के मौके पर तिरंगा फहराकर शुरू किया गया मस्जिद का काम

देश के नक्‍शे और पृथ्‍वी को घेरे हुए एक वृत में अपने आप को समेटे इस झांकी में भारत में विकसित कोरोना वैक्‍सीन और इसके रिसर्च को रेखांकित किया गया था. जम्‍मू-कश्‍मीर राज्‍य से अलग होने और केंद्र शासित क्षेत्र का दर्जा हासिल करने वाली लद्दाख की झांकी भी इस बार लोगों का ध्‍यान आकर्षित करने में सफल रही.

लद्दाख में बर्फ बनी झील पर ITBP के जवानों ने तिरंगे संग मनाया गणतंत्र दिवस,VIDEO देख शौर्य से भर जाएंगे

झांकी के पहले भाग में भगवान बुद्ध की प्रतिभा थी, इसकी पृष्‍ठभूमि में पर्वतीय क्षेत्र लद्दाख की अनूठी संस्‍कृति, वहां के रीति रिवाजों, वेशभूषा, त्‍योहारों और मठों को दर्शाया गया था. फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कंठ (Flight Lieutenant Bhawana Kanth) गणतंत्र दिवस फ्लाई-पास्‍ट (Republic Day fly-past) में भाग लेने वाली देश की पहली महिला फाइटर बन गई हैं. फ्लाइट लेफ्टिनेंट तनिक शर्मा ने IAF के दल की अगुवाई की जिसमें 96 एयरमैन और चार ऑफिसर थे, इसमें 12 बाय 8 के फॉर्मेशन में एयर वॉरियर थे.वायुसेना की झांकी की थीम इस बार ''Indian Air Force: Touch the Sky with Glory (भारतीय वायुसेना: शान के साथ आसमान की ऊंचाई पर) थी, इसमें हल्‍के लड़ाकू विमान और हल्‍के लड़ाकू हेलीकॉप्‍टर्स-सुखाई-30, एमके 1-एयरक्राफ्ट और रोहिनी रडार के मॉडल थे. आबादी के हिसाब से देश के सबसे बड़े राज्‍य उत्‍तर प्रदेश की झांकी इस बार अयोध्‍या पर केंद्रित थी. इसमें राम मंदिर के स्‍वीकृति डिजाइन और दीपोत्‍सव को दर्शाया गया था. (एजेंसी से भी इनपुट)


गणतंत्र दिवस: राजपथ के आसमान पर वायुसेना का गौरव

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com