सेना प्रमुख ने किया LAC का दौरा, हिंसक झड़प में साहस दिखाने वाले जांबाजों को किया सम्‍मानित

सेना प्रमुख ने इस दौरान सरहद पर भारत और चीन के बीच व्‍याप्‍त तनाव के मद्देनजर किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए सेना की तैयारियों का लिया जायजा दिया. इस दौरान जनरल नरवणे ने सेना के अदम्य साहस की प्रशंसा की और ऐसे ही मनोबल हमेशा उच्‍च स्‍तर पर बनाए रखने की नसीहत दी.

सेना प्रमुख ने किया LAC का दौरा, हिंसक झड़प में साहस दिखाने वाले जांबाजों को किया सम्‍मानित

India-China Border: सेना प्रमुख ने हिंसक झड़प में साहस दिखाने वाले वाले सैनिकों को सम्मानित किया

नई दिल्ली:

Ladakh Clash: सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (General MM Naravane) ने अपने लद्दाख दौरे के दूसरे दिन फॉरवर्ड एरिया यानि भारत चीन एलएसी का दौरा किया. फॉरवर्ड एरिया जाकर उन्‍होंने जमीनी हालात और तैयारियों का जायजा लिया. दौरे के दौरान सेना प्रमुख ने वहां के लोकल कमांडरों से मुलाकात की साथ ही जवानों की हौसला अफजाई भी की. जनरल नरवणे ने सेना के अदम्य साहस की प्रशंसा की साथ ही ऐसे ही मनोबल हमेशा ऊंचा रखने की नसीहत दी. सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने पूर्वी लद्दाख के फॉरवर्ड एरिया में अपने दौरे के दौरान गालवन घाटी में चीन के खिलाफ हुए हिंसक झड़प  (face-offs with China)  में अपने अदम्य साहस का परिचय देने वाले भारतीय सैनिकों को सम्मानित भी किया.

इससे पहले मंगलवार को भी सेना प्रमुख ने कमांडरों के साथ बैठक की थी. साथ ही गलवान घाटी में हुए हिंसक झड़प में घायल जवानों से मिले भी थे. 22 जून को दोनो देशों के लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत में सेनाओ के पीछे हटाने पर बात हुई थी. दोनों पक्ष इस बात से सहमत हुए है कि सभी पॉइंटस से सेना चरणबद्ध तरीक़े से पुरानी जगह पर जाएगी. इससे पहले भी 6 जून को लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत में आपसी सहमति से विवाद सुलझाने को लेकर बात हुई थी. सैनिकों को अप्रैल 2020 के पुरानी जगह पर लौटने की बात हुई थी, लेकिन 15 जून की रात गलवान घाटी में हिंसक झड़प हुई. इसमे भारत के 20 सैनिक और चीन का और भी ज़्यादा नुकसान हुआ.सेना प्रमुख के दौरे से साफ है कि टॉप कमांडर अपने जवानों का मनोबल ऊंचा रखना चाहते है और चीन फिर कोई ऐसी हरकत करता है तो उसका कड़ा जवाब दिया जाएगा.

tu9jq4gg

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

जनरल एमएम नरवणे ने मंगलवार को लेह के सैन्य अस्पताल में सैनिकों से मुलाकात की थी

गौरतलब है कि सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे बुधवार को दो दिवसीय दौरे पर लद्दाख पहुंचे. सेना प्रमुख यहां गालवान घाटी में स्थिति का जायजा लेने के लिए पहुंचे हैं. जहां पिछले सप्ताह भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई झड़प में 20 भारतीय जवानों की जान गई थी. जनरल नरवणे ने मंगलवार को लेह के सैन्य अस्पताल में सैनिकों से मुलाकात की और बातचीत की. गौरतलब है कि थल सेना प्रमुख जनरल नरवणे से पहले, पिछले सप्ताह वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने भी लद्दाख और श्रीनगर वायु सैनिक अड्डों का दौरा किया था और क्षेत्र में किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए भारतीय वायु सेना की तैयारियों का जायजा लिया था.