'नेपाली सुरक्षा बल के जवान ने मेरे बेटे को धक्का मारा..सीमा में घुसकर हवाई फायरिंग करने लगे'

भारत और नेपाल की सीमा और नक्शे के लेकर जारी विवाद विवाद के बीच बिहार नेपाल से सटे इलाकों में हुई फायरिंग के बाद हर कोई हैरत में है. सीतामढ़ी जिले में नेपाल पुलिस की ओर से फायरिंग किए जाने की खबर है.

'नेपाली सुरक्षा बल के जवान ने मेरे बेटे को धक्का मारा..सीमा में घुसकर हवाई फायरिंग करने लगे'

लगन किशोर को नेपाल सिक्योरिटी को लोग पकड़ ले गए थे.

नई दिल्ली :

भारत और नेपाल की सीमा और नक्शे के लेकर जारी विवाद विवाद के बीच बिहार नेपाल से सटे इलाकों में हुई फायरिंग के बाद हर कोई हैरत में है. सीतामढ़ी जिले में नेपाल पुलिस की ओर से फायरिंग किए जाने की खबर है. जानकारी है कि इस फायरिंग में एक ग्रामीण की मौत हो गई है. दो लोग इस घटना में घायल हुए हैं. घायलों का इलाज सीतामढ़ी के सदर अस्पताल में चल रहा है. वहीं इसी घटना को लेकर स्थानीय निवासी लगन किेशोर ने बताया कि उनको नेपाल पुलिस ने फायरिंग की घटना के बाद हिरासत में ले लिया था हालांकि बाद में उन्हें उन लोगों ने छोड़ दिया और वह सीतामढ़ी वापस आ गए हैं. लगन किशोर ने बताया कि वह और उनके बेटे नेपाल में अपने बहू से मिलने गए थे. वो नेपाल की रहने वाली हैं. 

न्यूज एजेंसी ANI से उन्होंने बताया कि नेपाल पुलिस के एक जवान ने उनके बेटे को धक्का मारा. लगन किशोर ने बताया, 'जब मैंने इसका विरोध किया तो उन्होंने मुझसे चुप रहने के लिए कहा. उन लोगों ने 10 और जवानों  को बुला लिया. सीमा के अंदर आ गए और हवाई फायरिंग करने लगे'. लगन किशोर ने आगे बताया, 'हम सभी भारत की ओर भागने लगे. लेकिन वह खींचकर अपनी सीमा में ले आए और राफेल की बट से मेरे ऊपर प्रहार किया. इसके बाद मुझे नेपाल के संग्रापुर ले जाया गया. मैंने उन्हें कि वो मुझे मार सकते हैं. लेकिन फिर भी मुझे भारत से वहां ले जाया गया. 

गौरतलब है कि गौररतलब है कि  नेपाली सीमा सुरक्षा बल के कर्मियों ने शुक्रवार को तकरार के बाद भीड़ पर गोलीबारी कर दी जिसमें 22 साल के एक भारतीय युवक की मौत हो गई जबकि दो अन्य घायल हो गए. इसकी वजह से बिहार के सीतामढ़ी से लगती भारत और नेपाल सीमा पर तनाव पैदा हो गया है.  भारतीय अधिकारियों ने बताया कि नेपाली सशस्त्र बल (एपीएफ) ने घटना के बाद एक व्यक्ति को हिरासत में भी लिया है जिसकी पहचान 45 वर्षीय लगन यादव के रूप में की गई है.  यह घटना दोनों देशों के बीच सीमा को लेकर विवाद के बीच हुई है. नेपाल द्वारा जारी नये राजनीतिक मानचित्र में लिपुलेख, कालापानी और लिम्पियाधुरा को नेपाली सीमा में दिखाया गया है जबकि भारत ने नेपाल को साफ कह दिया है कि क्षेत्र को लेकर वह अपने दावों में 'कृत्रिम इजाफा' न करे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, नेपाल को लेकर सेना प्रमुख ने कहा कि नेपाल के साथ हमारे संबंध मजबूत है. हमारे बीच भौगोलिक, सांस्कृतिक, ऐतिहासिक और धार्मिक जुड़ाव हैं. हमारे लोगों के बीच आपसी संबंध बहुत मजबूत हैं. नेपाल के साथ हमारे संबंध हमेशा मजबूत रहे हैं और भविष्य में भी मजबूत रहेंगे.