NDTV Khabar

लालू यादव बोले, मैं हूं सच्चा हिंदू, बीजेपी के नारे में नहीं है मां सीता का नाम

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लालू यादव बोले, मैं हूं सच्चा हिंदू, बीजेपी के नारे में नहीं है मां सीता का नाम

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने बीजेपी को बताया महिला विरोधी.

खास बातें

  1. राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने बीजेपी को बताया महिला विरोधी
  2. लालू ने ट्वीट कर कहा, बीजेपी के नारे में मां सीता का नाम नहीं
  3. हाल के दिनों में महिलाओं पर बीजेपी का फोकस
नई दिल्ली: राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने खुद को सच्चा हिंदू बताया है. साथ ही उन्होंने बीजेपी और आरएसएस को महिला विरोधी बताया है. लालू यादव ने बीजेपी नेताओं की ओर से जय श्रीराम कहे जाने को आधार बनाकर उन्हें महिला विरोधी बताया है. उन्होंने कहा कि बीजेपी वाले राम के नाम के साथ मां सीता का नाम नहीं लेते हैं. लालू यावद ने ट्वीट में लिखा है, ' हम सच्चे हिंदू हैं. हिंदू धर्म की शिक्षाओं के अनुसार हम सबों का सम्मान करते हैं, सबों को प्रेम करते हैं, सबको साथ लेकर चलते हैं. गरीब का भला चाहते हैं. आरजेडी अध्यक्ष ने अपने अगले ट्वीट मे लिखा, 'हम 'सीता-राम,सीता-राम' करते हैं और BJP जय श्रीराम। BJP/RSS महिला विरोधी है इसलिए 'माता सीता' को छोड़ देती है। सीता है तो राम है, राम है तो सीता.'  मालूम हो कि पिछले कुछ समय से केंद्र सरकार महिलाओं को अपने पक्ष में करने के लिए योजनाएं शुरू कर रही हैं. यूपी चुनाव के दौरान विज्ञापनों में भी बीजेपी ने महिलाओं को केंद्र में रखा था. उज्जवला योजना के तहत गरीब परिवारों को गैस सिलेंडर मुहैया कराने की योजना को भी महिलाओं को ध्यान में रखकर शुरू की गई है. मुस्लिम महिलाओं का विश्वास पाने के लिए बीजेपी ने तीन तलाक के मुद्दे को खत्म करने की बात कर रही है. इसे देखते हुए लालू यादव ने खुद को महिला समर्थक बताने की कोशिश की है.

टिप्पणियां
आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी से मुकाबले के लिए अभी से तैयारी में जुटे हैं. इसी के मद्देनजर आरजेडी ने नालंदा जिले के राजगीर स्थित अंतर्राष्ट्रीय कन्वेंशन हॉल में पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए लिए राष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर करा रही है. यह प्रशिक्षण शिविर चार मई तक चलेगा. प्रशिक्षण शिविर को खुद लालू प्रसाद यादव भी संबोधित कर चुके हैं. 

लालू यादव बीजेपी को रोकने के लिए देश भर की विपक्षी पार्टियों से एकजुट होने की अपील कर रहे हैं. उनका मानना है कि बिहार में जिस तरह से आरजेडी और जदयू ने गठबंधन कर बीजेपी को रोक दिया, उसी तर्ज पर देश के दूसरे राज्यों में भी महागठबंधन बनने चाहिए. वे कह चुके हैं कि अगर उत्तर प्रदेश में सपा, बसपा और कांग्रेस मिलकर चुनाव लड़ती तो शायद परिणाम कुछ और हो सकते थे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement