यह ख़बर 06 अगस्त, 2013 को प्रकाशित हुई थी

मस्जिद के पीछे की जमीन मेरी : कादलपुर के सोहन लाल का दावा

खास बातें

  • राष्ट्रीय अनुसूचित जाति और जनजाति आयोग के पूर्व सहायक निदेशक सोहन लाल का कहना है कि कादलपुर गांव में कई लोगों ने ग्राम सभा की जमीन पर गैर-कानूनी कब्जा कर रखा है। उनका यह भी दावा है कि मस्जिद के पीछे की जो जमीन है वह उनकी है।
नई दिल्ली:

राष्ट्रीय अनुसूचित जाति और जनजाति आयोग के पूर्व सहायक निदेशक सोहन लाल का कहना है कि कादलपुर गांव में कई लोगों ने ग्राम सभा की जमीन पर गैर-कानूनी कब्जा कर रखा है। उनका यह भी दावा है कि मस्जिद के पीछे की जो जमीन है वह उनकी है।

सोहन लाल का कहना है कि मस्जिद के पीछे की जमीन उनकी है जिसका खसरा नंबर 330, 331 और 332 है।

उनका दावा है कि 28 जुलाई को गांव के कुछ मुस्लिम लोगों ने मिलकर इनके प्लॉट की दीवार तोड़ दी। सोहन लाल का दावा है कि यह लोग मस्जिद के पीछे से भी बाहर निकलने का रास्ता बनाना चाहते थे।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इस घटना के बाद सोहन लाल ने जिलाधिकारी कार्यालय में शिकायत भी दर्ज करवाई है। मंगलवार को भी ये लोग डीएम कार्यालय में आए थे।

इसी के साथ सोहन लाल ने बताया कि गांव के कई 'दबंग किस्म' लोगों ने ग्राम सभा की काफी जमीन पर कब्जा कर रखा है। हालांकि, 27 जुलाई की घटना के बारे में वह कुछ नहीं जानते क्योंकि उस दिन यहां पर वह मौजूद नहीं थे।